पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सियासत अनलॉक:एसआईटी ने कमलनाथ से मांगी हनीट्रैप की पैनड्राइव

इंदौर/भोपाल19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हनीट्रैप मामले की जांच कर रही एसआईटी ने पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के हनीट्रैप वाले बयान को अपनी जांच में शामिल कर लिया है। कमलनाथ का सोशल मीडिया पर बयान आया था और अखबारों में भी छपा था कि हनीट्रैप की पैनड्राइव सबके पास है तो उनके पास भी है।

इस पर एसआईटी के जांच अधिकारी (आईओ) ने नाथ से कहा है कि वे पैनड्राइव उपलब्ध करवा दें। 2 जून को आईओ खुद लेने पहुंचेंगे। आईओ सुबह 11 बजे पैनड्राइव लेने आएगा। एसआईटी चीफ विपिन माहेश्वरी ने पैनड्राइव मांगे जाने की पुष्टि करते हुए कहा कि यह पैनड्राइव मिलती है तो इससे जांच में मदद मिलेगी।

वह ठीक से होगी। यहां उल्लेखनीय है कि कमलनाथ ने हाल ही में हुई कांग्रेस विधायक दल की कमराबंद बैठक में उमंग सिंघार के मामले को लेकर कहा था कि हनीट्रैप की पैनड्राइव उनके पास भी है।

सिंघार की एक महिला मित्र का उनके निवास पर ही सुसाइड का मामला था, जिस पर राज्य सरकार ने केस दर्ज किया था। कांग्रेस ने इस कार्रवाई को राजनीतिक व पूर्वाग्रह से ग्रसित बताया था। इसी को लेकर भोपाल में कमलनाथ ने उपरोक्त बात कही थी।

इसके बाद उज्जैन में भी कमलनाथ ने यह बात दोहराई थी। कमलनाथ के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा का कहना है कि उन्होंने कभी नहीं कहा कि ओरिजिनल पैनड्राइव या सीडी उनके पास है। यह तो बंद कमरा मीटिंग की हवा-हवाई से उड़ी खबर है।

यदि किसी के पास कमलनाथ के कथन का कोई वीडियो या प्रमाण हो तो उसे सार्वजनिक करे। हमें एसआईटी की ओर से कुछ नहीं कहा गया है। यदि कहेंगे तो कानूनी आधार पर जवाब देंगे।

खबरें और भी हैं...