पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Super Market So Crowded That Tokens Were Distributed, Some Grocery Shops Were Empty In Three Hours

कोरोना काल में बाजार:सुपर मार्केट में इतनी भीड़ कि टोकन बांटे, कुछ किराना दुकानें तीन घंटे में हुईं खाली

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
100 से ज्यादा लोग किला मैदान स्थित सुपर मार्केट में थे। बेसमेंट की पार्किंग से ही खरीदारों की लाइन लगी थी। - Dainik Bhaskar
100 से ज्यादा लोग किला मैदान स्थित सुपर मार्केट में थे। बेसमेंट की पार्किंग से ही खरीदारों की लाइन लगी थी।
  • इतने ग्राहक आए कि 15 मिनट ही दिए सामान खरीदने के लिए
  • सियागंज में खेरची वालों को नहीं मिली एंट्री, आज से दलाल भी बंद
  • मारोठिया बाजार में भी सुबह से लग गई थी लोगों की कतारें
  • मालवा मिल पर अनाउंसमेंट कर डिस्टेंसिंग का पालन कराया गया

हफ्ते में सिर्फ दो दिन (सोमवार और गुरुवार) किराना दुकानें खोलने के आदेश के बाद गुरुवार सुबह 6 बजे से छोटी किराना दुकानों से लेकर बड़ी कंपनियों के सुपर स्टोर तक में भीड़ उमड़ पड़ी। बाजारों की कुछ दुकानें तो तीन से चार घंटे में ही खाली हो गईं।

दि सियागंज होलसेल किराना मर्चेंट एसोसिएशन के धीरज खंडेलवाल ने बताया कि केवल 70 प्रतिशत दुकानें ही खुलीं। पुलिस ने पहले से ही पूरे बाजार की बैरिकेडिंग कर दी थी। इसके चलते सियागंज को वन-वे कर दिया गया। सरवटे की तरफ से एंट्री और रेलवे स्टेशन के सामने से बाहर निकलने का रास्ता दिया गया था। किसी भी टू-व्हीलर और खेरची वालों को एंट्री नहीं दी गई। यहां पर दिनभर जो भी खरीदी हुई, उसमें फोन पर ऑर्डर लिखे और माल को बताए गए पते पर लोडिंग वाहनों के जरिए रवाना किया गया। इसके कारण ट्रैफिक जाम की स्थिति भी बनी।

खंडेलवाल ने बताया कि एसोसिएशन ने सभी 400 दलालों से फोन पर ही ऑर्डर देने को कहा है। इससे बाजार में भीड़ कम होगी। अभी तक दलाल बाजार में पहले माल लिखवाता था, फिर माल देखने के लिए जाता था, उसके बाद माल को तुलवाते समय सामने रहता और फिर माल की डिलीवरी के समय भी पहुंचता था। अब उनके आने पर रोक लगाई है।

मालवा मिल और परदेशीपुरा में नहीं दिखी सोशल डिस्टेंसिंग

मुख्य क्षेत्रों की किराना दुकानों पर भी भीड़ की स्थिति कुछ ऐसी ही थी। यहां पर भी लोग सामान लेने के लिए डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे थे। इस पर मालवा मिल और परदेशीपुरा पर पुलिस की वैन ने अनाउंसमेंट कर लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए जाने का कहा जाता रहा।

वहीं, मल्हारगंज की काफी संकरी धान गली में भी जब किराना खरीदने वालों की भीड़ जमा हो गई तो स्थानीय लोगों ने उसका वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया। इसके बाद पुलिस और निगम की गाड़ियां वहां पर पहुंचीं और लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का कहा। रेती मंडी वाले डी मार्ट पर सुबह 7 बजे से लाइन थी। छोटा बांगड़दा रोड स्थित डी मार्ट पर टोकन सिस्टम से लोगों को सिर्फ 15 मिनट के लिए खरीदी के लिए एंट्री दी गई। यहां 100 से ज्यादा व्यक्ति लाइन में थे। हरेक को अंदर जाने में एक से तीन घंटे लगे। देवास नाका स्थित मेट्रो पर तो सुबह भीड़ को देखते हुए मुख्य गेट बंद करना पड़ा। उसके बाद भी लोग गेट के बाहर खड़े रहे।

सियागंज की चारों गलियां रानीपुरा तक दोनों ओर वाहनों से रहीं पैक

सुबह 9 बजे... वैशाली नगर से अन्नपूर्णा के बीच दोनों ओर किराना दुकानों पर लाइन। अन्नपूर्णा मंदिर से सुदामा नगर मेन गेट तक 6 से 7 किराना दुकानें, लेकिन सभी पर भीड़ ऐसी कि शायद 15 दिन तक अब कुछ नहीं मिलेगा। मंदिर के पहले झूलेलाल मंदिर गली में तो जैसे हाट लगा हो। आड़ा बाजार में भी वही नजारा। लोगों में खरीदी को लेकर हड़बड़ी। जवाहर मार्ग जरूर शांत नजर आया, लेकिन नंदलालपुरा में भी किराना और फल-सब्जी खरीदने वालों की भीड़ थी। जवाहर मार्ग पर आगे बढ़ो तो अचानक गाड़ियां ही गाड़ियां खड़ी थीं।

पहले ऐसा लगा जैसे कोई आयोजन हो रहा। पटेल ब्रिज के पहले, सियागंज की चारों गलियां, रानीपुरा तक दोनों ओर वाहनों से पैक थीं। सारी भीड़ सियागंज में ही उमड़ी, वह भी सुबह 10.30 बजे। व्यापारी समझाते रहे अभी शाम तक दिक्कत नहीं है, लेकिन खरीदी करने वाले भी फुटकर विक्रेता ही थे। एमटीएच वाला रास्ता बंद कर दिया गया था, इसलिए सारा लोड स्टेशन वाली गली और पटेल ब्रिज की ओर था। करीब एक बजे तक यही हाल था।

खबरें और भी हैं...