• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • The Allegation Of Possession Of A Deaf And Mute Son Turned Out To Be False, In The Police Public Hearing, The Elderly Mother Had Complained

झूठे आरोप:मूक बधिर बेटे पर कब्जे का आरोप झूठा निकला, पुलिस जनसुनवाई में बुजुर्ग मां ने की थी शिकायत

इंदौर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुलिस अफसरों ने जांच एमआईजी पुलिस को सौंपी थी

पुलिस जनसुनवाई में मूकबधिर बेटे और बहू के खिलाफ शिकायत करने वाली वृद्धा के आरोप झूठे निकले हैं। वृद्धा ने बेटे के खिलाफ कब्जे का आरोप लगाया था। खजराना, मेेनन कॉलोनी निवासी सरस्वती गौहर ने बेटे आलोक व बहू के खिलाफ शिकायत की थी। वृद्धा के साथ उनकी बेटी और सहेली पुष्पा ठाकुर भी गई थी। पुलिस अफसरों ने जांच एमआईजी पुलिस को सौंपी थी।

सभी पक्षोें के बयान के बाद पुलिस ने पाया कि सरस्वती ने जो आरोप लगाए वे निराधार हैं। बेटा आलोक मूक-बधिर है। घर से निकालने का आरोप भी झूठा है। पीड़िता का उनके दामाद रितेश ने एक महीने तक घर पर रखकर इलाज करवाया है। इसके बाद भी वृद्धा की बेटी ने पति रितेश के खिलाफ घरेलू हिंसा की शिकायत कर दी। जांच में पता चला कि मां और बेटी को उनकी सहेली पुष्पा बाई पंवार बरगलाकर शिकायतें करवा रही है। उधर पता चला है कि जब शिकायतों का फर्क नहीं पड़ा तो पुष्पा ने रितेश के खिलाफ भी शिकायतें कर दी। अब रितेश ने पुष्पा बाई के खिलाफ जांच के लिए भी आवेदन दिया है।

खबरें और भी हैं...