• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • The Corporation Commissioner Said To The Engineers If You Come Out Then You Will Know The Problem

पेयजल की 342 शिकायतें:इंजीनियरों से बोलीं निगमायुक्त- बाहर निकलो तो समस्या पता चलेगी

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जवाब मांगा तो किसी ने लीकेज, किसी ने नई लाइन का बनाया बहाना

शहर में पीने के पानी की शिकायतों का अंबार लग गया है। 342 शिकायतें तो सीएम हेल्प लाइन और निगम के 311 एप पर ही पेंडिंग पड़ी हैं। इसकी समीक्षा जोन स्तर पर निगमायुक्त ने करते हुए इंजीनियरों और अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। उन्होंने इंजीनियरों से कहा कि बाहर निकलोगे तो समस्या देख पाओगे।

निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने अपर आयुक्त भव्या मित्तल और पीएचई के अधिकारियों की क्लास ली। उन्होंने एक-एक जोन की शिकायतों को लेकर संबंधित सब इंजीनियरों से बात की। सबसे ज्यादा शिकायतें जोन 13 और 8 की थी। यहां के अधिकारियों से पूछा कि वे क्या देखते हैं। किसी ने कहा नई लाइन डालने के कारण परेशानी आ रही है तो किसी ने लीकेज का बहाना बनाया। उन्होंने निराकरण के निर्देश दिए हैं।

3 दिन से ज्यादा शिकायत पेंडिंग तो जवाब लो

अपर आयुक्त भव्या मित्तल से निगमायुक्त ने कहा कि पेंडिंग शिकायतों पर सख्त मॉनिटरिंग की जाए। तीन दिन में शिकायत का समाधान होना चाहिए। इससे ज्यादा किसी शिकायत में समय लग रहा है तो इसका जवाब लिया जाए। ज्यादातर शिकायतें तत्काल निराकरण वाली ही हैं, जिन्हें पेंडिंग रखा गया है।

बैठक में ही कॉन्ट्रैक्टर को किया ब्लैक लिस्ट

कार्यपालन यंत्री संजीव श्रीवास्तव से पूछा कि बर्फानी धाम टंकी की लाइन का क्या हुआ। उन्होंने बताया कि 30 लाख का प्रोजेक्ट था और कॉन्ट्रेक्टर फर्म सोमल जैन द्वारा अभी तक काम ही शुरू नहीं किया गया है। इस पर निगमायुक्त ने कहा तत्काल उसे ब्लैक लिस्ट कर दिया जाए। उन्हें पूर्व में भी निगम द्वारा नोटिस दिया गया है।

खबरें और भी हैं...