• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • The Dangerous Part Of Vigyan Bhavan Was To Be Broken In March, The University Management Did Not Even Care

एसजीएसआईटीएस के विशेषज्ञों की रिपोर्ट को भी नजरअंदाज किया:मार्च में टूटना था विज्ञान भवन का खतरनाक हिस्सा, यूनिवर्सिटी प्रबंधन ने सुध तक नहीं ली

इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यह विज्ञान भवन बेहद पुराना हो चुका है। - Dainik Bhaskar
यह विज्ञान भवन बेहद पुराना हो चुका है।

देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी के खंडवा रोड स्थित तक्षशिला परिसर के विज्ञान भवन का खतरनाक हो चुका पिछला हिस्सा अब तक नहीं गिराया गया। इस हिस्से को मार्च में ही गिराना चाहिए था। कोविड की दूसरी लहर के बाद जून में जब तक्षशिला परिसर भी ओपन हुआ, तब भी यूनिवर्सिटी ने इस पर ध्यान नहीं दिया। अब जब छात्रों की आवाजाही शुरू हो गई है, ऐसे में यह काम करना आसान नहीं होगा।

दरअसल, इसी साल निरीक्षण के बाद एसजीएसआईटीएस के विशेषज्ञों ने अपनी रिपोर्ट समिट की थी। इसमें खुलासा हुआ था कि बिल्डिंग के एक हिस्से में कुछ क्लासरूम हैं, जिसकी दीवारें कभी भी भरभराकर गिर सकती हैं। बाहरी हिस्से की दीवारें भी क्रेक हो चुकी हैं। कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। इसीलिए इसे खाली करना बेहद जरूरी है। इसके बाद यूनिवर्सिटी ने इसे खाली करवा लिया था।

तीन साल पहले डेढ़ करोड़ रुपए में नवीनीकरण किया था

यह विज्ञान भवन बेहद पुराना हो चुका है। तीन साल पहले डेढ़ करोड़ खर्च करके इसका नवीनीकरण किया था, इसके बावजूद भीतर से इसकी खराब हालत बदल नहीं पाई थी। यूनिवर्सिटी अब तक न तो इस हिस्से को तुड़वा पाई और न ही दोबारा इसे बनाने को लेकर कोई निर्णय हुआ। देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी के मीडिया प्रभारी डाॅ. चंदन गुप्ता ने कहा है कि मार्च में परीक्षाओं का दौर और उसके बाद कोरोना की दूसरी लहर के कारण यूनिवर्सिटी प्रशासन ने इस काम को आगे बढ़ा दिया था। अब बहुत जल्द इस काम को आगे बढ़ाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...