इंदौर में महिला को गोली लगने का सच:हिस्ट्रीशीटर ने हत्या के इरादे से बदमाश पर बंदूक चलाई, नीचे झुका तो घर के बाहर बैठी महिला के हाथ को छूकर निकली गोली

इंदौर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गोली चलाने वाले शाहिद नाइट्रा पर कई केस हैं। - Dainik Bhaskar
गोली चलाने वाले शाहिद नाइट्रा पर कई केस हैं।

इंदौर के आजाद नगर में बुधवार देर रात महिला को लगी गोली उसे टारगेट कर नहीं मारी गई थी। हिस्ट्रीशीटर एक दूसरे बदमाश की हत्या के इरादे से पहुंचा था। बदमाश नीचे बैठ गया और गोली महिला के हाथ को छूते हुए निकल गई। जबकि, महिला ने अपने विरोधियों पर हमला करने की आशंका जताई थी।

आजाद नगर के हुसैनी मस्जिद के पास रहने वाली आफिया पत्नी अतीक को गुरुवार सुबह एमवाय लाया गया था। TI इंद्रेश त्रिपाठी के मुताबिक, जांच में पता चला कि इलाके के बदमाश बल्लू उर्फ बबलू कांडे पर गोली चलाई गई थी। वह अपने साथी यूनुस अठन्नी के खाथ खड़ा था। गोली चलाने वाला बदमाश शाहिद नाइट्रा था। कांडा नीचे बैठ गया और गोली महिला के हाथ को छूकर निकल गई।

चार साल से चल रही वर्चस्व की लड़ाई
शाहिद नाइट्रा और बबलू कांडे के बीच चार साल से वर्चस्व को लेकर लड़ाई चल रही है। नाइट्रा तोड़े इलाके का रहने वाला है। उस पर एक दर्जन के लगभग गंभीर अपराध दर्ज है। वह कुख्यात बदमाश अकरम चीना का साथी है। पूर्व में भी वह गोलीकांड जैसी वारदातों को अंजाम दे चुका है।

युवती को मारा था चाकू
शाहिद नाइट्रा ने आजाद नगर और संयोगितागंज के बीच कुछ समय पहले युवती को चाकू मारा थे। बंगाली चौराहे पर भी वह तीन साल पहले नेपाली को चाकू मार चूका है। इसके साथ ही उसने रफीक नाम के व्यक्ति पर भी जानलेवा हमला किया था।

दोनों पक्ष केस दर्ज कराने के राजी नहीं
बताया जाता है कि रात में बबलू की हत्या की प्लानिंग से ही शाहिद आजाद नगर में घुसा था। हमले के बाद पुलिस उसे ढूंढती रही। उसके घर भी पहुंची। परिवार के लोग मामले में केस दर्ज कराने के लिए राजी नहीं हुए। आफिया से भी पुलिस के अधिकारियों ने शुरूआत में बात की। वह भी केस दर्ज कराने से इनकार करती रही।

पढ़ें पूराना मामला- इंदौर पुलिस को महिला ने बताया- शुरु में लगा कोई पत्थर आकर लगा है, हाथ से खून निकला तो पता चला किसी ने हमला किया

खबरें और भी हैं...