• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • The Minister In Charge Performed Bhoomipujan Of A 30 bed Hospital To Be Built At A Cost Of Rs 448 Lakh, Said The Hospital Will Be Equipped With State of the art Facilities

हातोद को बड़ी सौगात:प्रभारी मंत्री ने 448 लाख रुपए की लागत से बनने वाले 30 बेड के अस्पताल का भूमिपूजन किया, बोले - अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा अस्पताल

इंदौर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गृहमंत्री ने अस्पताल का भूमिपूजन किया। - Dainik Bhaskar
गृहमंत्री ने अस्पताल का भूमिपूजन किया।

प्रभारी तथा गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने शनिवार को हातोद को स्वास्थ सुविधा के क्षेत्र में बड़ी सौगात दी। उन्होंने यहां बनने वाले 30 बेड के अस्पताल का भूमिपूजन किया। करीब 448 लाख रुपए की लागत से बनने वाले इस अस्पताल को 18 महीने में तैयार करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मिश्रा ने कहा कि यह अस्पताल अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा।

प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कोरोना काल से हमें बहुत कुछ नया सीखने को मिला है। प्रकृति से दूर रहने के दुष्परिणाम भी दिखाई दिए हैं। हम भारतीय संस्कृति के पोषक हैं, इस संस्कृति से हमें प्रकृति के साथ रहना सिखाया जाता है। प्रकृति और भारतीय संस्कृति के साथ रहकर निरोगी रहने में मदद मिलती है। हातोद में बनने वाले अस्पताल को अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त किया जाएगा। साथ ही इस अस्पताल में ऑक्सीजन की व्यवस्था भी की जाएगी।

सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि जिले में कोरोना काल के पूर्व अनुभव को देखते हुए वर्तमान में अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। यह अस्पताल इस दिशा में एक बड़ा कदम है। उन्होंने कहा कि देपालपुर क्षेत्र के विकास की तरफ विशेष ध्यान दिया जा रहा है। यहां सांवेर, देपालपुर, हातोद और धार रोड होते हुए बायपास बनाने की योजना तैयार की जा रही है, इसके लिए प्रारंभिक सर्वे शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि इस क्षेत्र में एक लॉजिस्टिक हब भी बनाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। देपालपुर क्षेत्र को मुंबई-दिल्ली इंडस्ट्रियल कॉरिडोर से जोड़े जाने के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं। गुलावट को पूर्व मंत्री स्वर्गीय निर्भय सिंह पटेल की स्मृति में प्रमुख पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा।

क्यों जरूरी है यह अस्पताल
अस्पताल के निर्माण से हातोद के साथ ही देपालपुर और सांवेर तहसील के 40 गावों को बेहतर इलाज मिल पाएगा। यहां शिशु रोग विशेषज्ञ, स्त्रीरोग विशेषज्ञ, मेडिकल विशेषज्ञ मौजूद रहेंगे। ओपीडी के साथ आवश्यकता के अनुसार इनडोर पेशेंट सुविधा भी उपलब्ध होगी। अभी यहां पर केवल सामान्य डिलीवरी संबंधी ही उपचार की सुविधा है। अस्पताल बनने से सीजेरियन सुविधा भी मिल पाएगी।

खबरें और भी हैं...