पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंदौर में पति को 10 साल की सजा:नवविवाहिता को दहेज के लिए पति ने सताया था, वर्ष 2017 में घासलेट डालकर कर ली थी आत्महत्या

इंदौर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल चित्र - Dainik Bhaskar
फाइल चित्र

पति ने पत्नी को दहेज के लिए इतना सताया कि परेशान होकर उसने आत्मदाह कर ली। अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। उसके पास से मिले सुसाइड नोट में उसने पति द्वारा प्रताड़ित किए जाने का जिक्र भी किया था। विशेष न्यायालय ने आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाले पति को दस साल कठोर कारावास की सजा सुनाई। कोर्ट ने पति पर छह हजार रुपए अर्थदंड भी लगाया हैं ।

ये है मामला
जिला अभियोजन अधिकारी संजीव श्रीवास्तव के अनुसार 22 नवंबर 2017 को रात्रि अरबिंदो हॉस्पिटल के डॉक्टर द्वारा पुलिस थाना कनाड़िया इंदौर को सूचना दी थी कि मृतका (23 वर्ष) को 80% जली अवस्था में भगवान सिंह नामक व्यक्ति अरबिंदो हॉस्पिटल लाया है, जिसकी इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। पुलिस थाना कनाड़िया ने मर्ग पंजीबद्ध किया था। मर्ग जांच में लेकर आरोपी गोपाल सिंह पंवार एवं अन्य के विरुद्ध धारा 498 ए, 304बी भादवि का अपराध पंजीबद्ध किया गया था। मृतका के सुसाइड नोट में लिखा था कि आरोपीगण द्वारा उसे बार-बार प्रताड़ित किया गया था, जिस कारण वह अपने जीवन का दाह करने के लिए मजबूर होकर स्वयं के ऊपर घासलेट डालकर आग लगा रही है। अर्थदंड अदा नहीं करने पर तीन माह का अतिरिक्त कारावास व धारा 498 ए भादवि में 3 वर्ष का कारावास एवं एक हजार रुपए दंड किया। राशि अदा न करने पर एक माह का अतिरिक्त कारावास भुगतना होगा।

खबरें और भी हैं...