जिलाबदर सूदखोर की धमकी से गई जान:50 हजार रु. के बदले 10 हजार रु. महीना ब्याज वसूलने में खुलासा, आरोपी के खिलाफ आठ मुकदमे दर्ज हैं, पत्नी भी शराब तस्कर

इंदौर18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
राहुल ने मंगलवार देर रात जहर खा लिया था। - Dainik Bhaskar
राहुल ने मंगलवार देर रात जहर खा लिया था।

छत्रीपुरा इलाके में रहने वाले एक युवक ने जहर खाकर जान दे दी। उसे धमकी देने वाला बदमाश जिलाबदर निकला। साथ ही उस पर आठ अपराध भी दर्ज है। उसकी पत्नी को भी पुलिस अवैध शराब के केस में पकड़ चुकी है। आरोपी पर अवैध गांजा बेचने के अपराध भी दर्ज हैं। पुलिस इस मामले में कुछ भी कहने से बच रही है। पुलिस ने मृतक के बयान के परिजनों के बयान लिए है। इसमें जिलाबदर की पत्नी के घर आकर धमकाने की बात सामने आई है।

पुलिस के मुताबिक राहुल पिता सत्यनारायण पटेल निवासी लाबरिया भेरू ने मंगलवार देर रात में जहर खा लिया था। उसे भाई राकेश अस्पताल लेकर गया था। जहां उसकी मौत हो गई। मामले में जानकारी आई कि जिस सूदखोर भारत पिता किशन कंजर निवासी झोपड़पट्टी लाबरिया भेरु ने उसे धमकी दी। उस पर करीब 8 के करीब अपराध दर्ज हैं। उसका साथी भरती भी गया था। उसकी पत्नी सुषमा उर्फ सोसू पर भी छत्रीपुरा थाने में प्रकरण है। उसे कुछ दिन पहले शराब केस में पकड़ा भी गया था।

अवैध गांजे मारपीट के केस, जिलाबदर
पुलिस के मुताबिक भारत पर जो मामले है वह अवैध रूप से गांजा बेचने,शराब और मारपीट सहित अन्य गंभीर अपराध में है। उसे करीब छह माह पहले एक साल की अवधि के लिये जिलाबदर भी किया गया था। फिलहाल पुलिस ने राहुल के परिवार के बयान लिए हैं। इसमें भारत की पत्नी सुषमा द्वारा धमकाने की बात लिखी गई है। अभी अधिकारी इस मामले में कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

बताया जाता है कि सुषमा अभी भी इलाके में गांजा बेचने का काम कर रही है। इसमें स्थानीय पुलिस पर भी मिलीभगत का आरोप लग चुके हैं। रहवासियों ने बताया कि जिलाबदर होने के बाद भी भारत इलाके में पुलिसकर्मियों की मदद से खुलेआम घूमता है।

सूदखोरी ने ली नौजवान की जान:इंदौर में 50 हजार पर 10 हजार रुपए हर महीना ब्याज; दूसरे महीने पेमेंट से चूका, धमकी मिली तो खा लिया जहर
पिता करते है सब्जी बेचने का काम
राहुल पटेल के पिता सत्यनारायण सब्जी का काम करते हैं। उसकी दो बहनें है, जिनकी शादी हो चुकी है। राहुल ओर राकेश पड़ोस में मकान में रहते थे। बताया जाता है कि राहुल से ब्याज के रूप में हजारों रुपए वसूल कर का चुका था। बताया जाता है कि आरोपियों ने उसकी बहन को उठाकर ले जाने की धमकी दी थी। उसके बाद राहुल डर गया था।