• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • There Has Been An Incident Of Hair Catching At Janjirwala Crossroads, There Was Stone Pelting At The Ashram

उतरप्रदेश से भी धमकाया था राधे बाबा को:जंजीरवाला चौराहे पर बाल पकड़ने की हो चुकी है घटना ,आश्रम पर हो चुका है पथराव, इंदौर पुलिस ने सुरक्षा बढ़ाई

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राधे राधे बाबा - Dainik Bhaskar
राधे राधे बाबा

राधे राधे बाबा को मोबाइल पर मिली धमकी के बाद इंदौर पुलिस ने भले ही उनकी सुरक्षा बढ़ा दी हो, लेकिन इस तरह की सुरक्षा कई बार उनके आगे पीछे लगाई गई। उनका कार्यकाल विवादों में ही रहा है। उन्हें 2008 यूपी से भी धमकी मिल चुकी है। इस मामले में पुलिस ने एक आरोपी को पकड़ा था। बाबा ने श्राइन बोर्ड की जमीन को लेकर उस समय विवादित बयान दिया था। इसके बाद बाबा ने गणगौर घाट और अन्य हिंदू वादी मंदिरों को लेकर अपने बयान जारी किए थे। जिसमें उनके घर पर पथराव हुआ था। धर्म परिवर्तन को लेकर चलाए जा रहे अभियान में बाबा पर जंजीरवाला इलाके में हमला भी हो चुका है।
डीआईजी मनीष कपूरिया ने शनिवार को आए अंजान कॉल के बाद बाबा की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाने की बात कही थी। रात में एसपी महेशचंद्र जैन भी यहां पहुंचे थे। टेक्निकल जांच में कॉल बिहार से आना बताया जा रहा है। बाबा के ऊपर पहले भी कई बार हमले हो चुके है। बीजेपी के शासन काल में उनकी सुरक्षा हमेशा बढ़ाई गई। लेकिन कांग्रेस शासन काल आते ही गार्ड और अन्य सिक्योरिटी वापस ले ले गई थी। इसके बाद शिवराज सिंह सरकार की आने के बाद एक गार्ड राधे राधे बाबा को कुछ समय पहले ही मुहैया कराया गया।
यूपी से भी मिल चुकी है धमकी
बाबा को 2008 में उतर प्रदेश के शाहजहांबाद से धमकी मिली थी। राधे राधे बाबा ने इस समय श्राइन बोर्ड की जमीन को वापस लेने के मामले में एक बयान जारी किया था। जिसमें उसने मुस्लिमों को हज जाने से रोकने की बात कही थी। इसके बाद दाढ़ी काटने और बाल नोचने जैसी धमकिया बाबा को मोबाइल पर दी गई थीं।
वहीं बाबा पर जंजीरवाला चौराहे पर भी इसी साल हमला हुआ था। जिसमें उनके बाल खीचे गए थे। इस दौरान हिदूवादी लोगों ने जमकर माहौल बनाया था। जिसमें बाबा को सुरक्षा मुहैया कराने की बात कही गई थी।
गणगौर घाट को लेकर हुआ था पथराव
बाबा ने गणगौर घाट और धोबीघाट को लेकर विवादित बयान दिए थे। इस मामले में उनके आश्रम पर एक समुदाय के लोगों ने पत्थर और अंड़े फेंके थे। इसने सांप्रदायिक माहौल का रूप ले लिया था। जिसमें कई थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया था।
सात गार्ड में से दो ही दिखे
राधे -राधे बाबा के लिए डीआईजी मनीष कपूरिया ने रिजर्व बल के सात सुरक्षा गार्ड लगाने की बात कही थी। इस मामले में रात में छत्रीपुरा थाने के टीआई पवन सिंघल की लापरवाही को देखने को मिली। रात में यहां सिर्फ दो ही पुलिसकर्मी लगे हुए थे। बाकि के पांच पुलिसकर्मी नदारद थे। जो सुरक्षा में बड़ी चूक है।

खबरें और भी हैं...