• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Tracing, Home Isolation Monitored 24 Hours A Day, Talking To Patients Once A Day On Video, Twice On Audio Call

कोरोना कंट्रोल के लिए एक्शन में टीम ‘स्पेशल 100’:ट्रेसिंग, होम आइसोलेशन पर 24 घंटे नजर, मरीजों से रोज एक बार वीडियो, दो बार ऑडियो कॉल पर बात

इंदौर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोविड कंट्रोल कमांड रूम से इस तरह फोन कर मरीज की जानकारी ले रहे।
फोटो | ओपी सोनी। - Dainik Bhaskar
कोविड कंट्रोल कमांड रूम से इस तरह फोन कर मरीज की जानकारी ले रहे। फोटो | ओपी सोनी।
  • वायरस भले ही हमसे तेज, पर ऐसी ही तैयारियों से पहली और दूसरी लहर से निपटा है इंदौर

कोरोना संक्रमित मरीज का एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। कोविड कंट्रोल कमांड रूम से उसे मोबाइल पर कॉल किया जाता है। मरीज द्वारा कॉल रिसीव करते ही सबसे पहला सवाल पूछा जाता है- बीते सात दिनों में कहां-कहां यात्रा की आपने। जवाब मिलता है, जमशेदपुर से इंदौर आया हूं। अगला सवाल पूछा जाता है- वैक्सीन लगवा लिया। जवाब मिलता है टीके का एक भी डोज नहीं लगवाया है।

यह दृश्य है एसजीएसआईटीएस में बनाए गए कोविड कंट्रोल कमांड रूम का। तीन शिफ्ट में यहां 100 लोगों की टीम 24 घंटे कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, होम आइसोलेशन और मरीजों की स्थिति पर नजर रखे हुए है। मरीज को हर दिन एक बार वीडियो कॉल और दो बार ऑडियो कॉल किए जा रहे हैं।

गुरुवार तक की स्थिति में कुल 1716 एक्टिव मरीज हैं। इनमें सिर्फ 67 मरीज अस्पताल या कोविड केयर सेंटर में भर्ती हैं। इनमें भी दो मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं। यानी 5.2 प्रतिशत संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत पड़ रही है। कोेविड कंट्रोल कमांड रूम के नोडल अधिकारी रोहन सक्सेना कहते हैं कि अभी चार तरह से हमारा स्टाफ निगरानी रख रहा है।

मुंबई, दिल्ली से आने वाले ज्यादा संक्रमित

कंट्रोल रूम से पूछताछ करने पर ज्यादातर लोगों में ट्रेवल हिस्ट्री मिल रही है। मुंबई, दिल्ली व अन्य शहरों से आने वाले ज्यादा संक्रमित मिल रहे हैं। सोशल मिक्सिंग की वजह से संक्रमण बढ़ा है।

कंट्रोल रूम से वैक्सीनेशन, मरीज के लक्षण पर भी नजर

  • शहर में जितने भी पॉजिटिव केस आ रहे हैं, अगले दिन उन सभी की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जा रही है। कई तरह से सवाल किए जाते हैं और फिर ऑनलाइन एंट्री की जा रही है।
  • बीते सात दिन में मरीज किससे मिले, कोरोना टीकाकरण की स्थिति क्या है, होम आइसोलेशन या फिर अस्पताल में भर्ती हैं, कोई लक्षण आदि।
  • इसके बाद सारी जानकारी सार्थक-एप में दर्ज की जा रही है, ताकि अन्य लोग सतर्क हो सकें।

वाट्सएप पर मैसेज कर या फोन पर कोई भी व्यक्ति ले सकता है मदद

कॉल सेंटर नंबर 1075 को फिर से एक्टिव कर दिया है। कोई भी व्यक्ति जिसे कोविड संबंधी जानकारी चाहिए, वह इस नंबर पर फोन कर जानकारी ले सकता है। मसलन कौन सी दवाइयां, नजदीक का अस्पताल, टीकाकरण सहित कोई भी जानकारी फोन कर ली जा सकती है। वाट्सएप नंबर 7440442300 भी जारी किया है। इस पर वाट्सएप कर किसी भी तरह की जानकारी ली जा सकती है। कुछ ही देर में जवाब मिल जाएगा। वर्तमान में 95 फीसदी मरीज होम आइसोलेशन में ही हैं।

विदेश से आने वाले यात्रियों की पहले और 7वें दिन करवा रहे हैं सैंपलिंग

​​​​​​​लक्षणों के आधार पर ऐसा लगता है कि किसी को अस्पताल या कोविड केयर सेंटर शिफ्ट किया जाना है तो आरआरटी से संपर्क करते हैं। इसके साथ इंटरनेशनल पैसेंजर की मॉनिटरिंग कर रहे हैं। प्रोटोकॉल के तहत पहले दिन और सातवें दिन सैंपलिंग करवा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...