पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

MP के मंत्री जी का देखें ये VIDEO:इंदौर में सिलावट ने टीका लगवाने आई महिला से पूछा- पहचानती हो? महिला बोली- कमलनाथ!, मंत्री बोले- अरे! शिवराज या सिंधिया कह देतीं..

इंदौर13 दिन पहले
मंत्री सिलावट वैक्सीनेशन सेंटर पर पहुंचे, महिला ने उन्हें कमलनाथ कह दिया।

कई बार ऐसा वाकया हो जाता है, जिसे हम सोच भी नहीं सकते। हालांकि इनसे लोगों को हंसने का अच्छा मौका मिलता है। ऐसा ही कुछ मध्य प्रदेश के जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट के साथ शुक्रवार को घटा। वे इंदौर में चल रहे ड्राइव इन वैक्सीनेशन सेंटर पर दौरा करने पहुंचे थे।

यहां वैक्सीन लगवाने पहुंची एक महिला से उन्होंने पूछ लिया- मुझे पहचानती हो, महिला ने भी झट से जवाब दिया- कमलनाथ। यह सुन मंत्रीजी पहले थोड़ा झेंप गए, फिर हंसते हुए कहा- अरे, शिवराज या सिंधियाजी ही कह देती।

यह है वीडियाे में
मंत्री तुलसी सिलावट ड्राइव इन वैक्सीनेशन सेंटर का दाैरा करने पहुंचे थे। यहां एक दंपती काे उन्हाेंने बाइक पर बैठे-बैठे वैक्सीन लगवाते देखा। इस पर दूर से ही मंत्री ने कहा कि लगवाओ वैक्सीन। इसके बाद उन्होंने पास जाकर बाइक में पीछे बैठी महिला से पूछा लिया कि मुझे पहचानती हाे? काैन हूं मैं? इस पर महिला ने कहा कि कमलनाथजी... मंत्री ने हंसते हुए हाथ ऊपर किए और कहा कि हाे गया अब ताे... कमलनाथजी...। अरे, तुलसी सिलावट बाेलती, शिवराजजी बाेलती, सिंधियाजी बाेलती...। इस पर सभी हंस पड़े। महिला ने भी हंसते हुए सिलावट काे नमन करने की काेशिश की, लेकिन उन्हाेंने कहा कि नहीं-नहीं बेटा, बस...।

महिला ने मंत्री के पैर छूने की कोशिश की, मंत्री ने उन्हें आराम से वैक्सीन लगवाने को कहा।
महिला ने मंत्री के पैर छूने की कोशिश की, मंत्री ने उन्हें आराम से वैक्सीन लगवाने को कहा।

पटवारी ने बुजुर्ग से पूछा था- कमलनाथ सरकार में क्या कमी थी?
विधानसभा के उपचुनाव प्रचार के दौरान इंदौर में ही पटवारी ने बुजुर्ग महिला को मीडिया के सामने लाकर खड़ा कर दिया था। इसके बाद उन्होंने कहा- ये हमारी दादी हैं। ईमानदारी से बताना, आपको हमारी सौगंध है, मैं आपका पोता हूं। कमलनाथ सरकार की क्या-क्या कमियां हैं।

दादी ने झट से कहा- बहुत कमियां थीं। इस पर पटवारी ने कहा- जैसे। दादी बोलीं- बहुत कमियां थीं, फिर पटवारी ने कहा- जैसे... इस पर दादी ने कहा- यह तो याद नहीं, लेकिन बहुत कमियां थीं। इस पर वहां मौजूद सभी लोग हंसने लगे थे।

इंदौर में ASP के नाम पर मांगी रिश्वत:अफसर को दोस्त बताकर प्लॉट की रजिस्ट्री करवाने के लिए मांगे 7 लाख रुपए, 3 लाख पहले ले लिए; दो लाख रुपए लेते एसआईटी ने दबोचा

खबरें और भी हैं...