पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बिजली बिल के सदमे में मौत:व्यापारी के घर का बिल 1 लाख 18 हजार ,पांच सौ  स्केवैयर फीट की मकान

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विभाग ने बनाया व्यापारी के घर चालान , इनसेट में मृतक अब्दुल सकुर का फोटो - Dainik Bhaskar
विभाग ने बनाया व्यापारी के घर चालान , इनसेट में मृतक अब्दुल सकुर का फोटो

बिजली बिल इतना अधिक आया की एक कारोबारी की की सदमे में जान चली गई। विभाग द्वारा सिर्फ पांच सौ स्केवैयर फीट की मकान में एक लाख अठारह हजार रुपए का बिल थमा दिया। 25 मार्च को ग्रीन पार्क कालोनी में रहने वाली अब्दुल सकुर (53) की तबियत बिगड़ी, तो परिवार के लोग अस्पताल ले गए। डॉ ने कहा कि नहीं रहे। अब्दुल सकुर सब्जी कारोबारी थे और तालाबंदी के बाद से ही घर की हालत खराब हो चुकी थी। उनकी दो लड़की और एक लड़का है। एक लड़की की शादी हो चुकी है। ग्रीन पार्क कालोनी में पांच सौ स्केवैयर फीट के मकान में रहते हैं।

भाई अब्दुल जहूर (मुन्ना) ने बताया कि 25 फरवरी को बिजली अधिकारी जांच के लिए आए थे। बोले तुम्हारा बिजली का बिल कम आता है, मीटर में गड़बड़ी है, हम इसकी जांच करेंगे। वो मीटर निकालकर ले गए और स्मार्ट मीटर लगा दिया। उस मीटर की जांच रिपोर्ट आने के पहले ही 1 लाख 18 हजार रुपए का बिल थमा दिया और आरोप लगाया कि बिजली चोरी की जा रही थी। परिवार का कहना था कि बरसों से कभी चार सौ तो कभी पांच सौ रुपए बिल आता है, इतना बिल नहीं आता। सिरपुर झोन पर जब सकुर और उसके रिश्तेदार बात करने गए तो अफसरों ने जवाब दिया कि मीटर में छेद था। पचहत्तर हजार रुपए जमा करना पड़ेंगे नहीं तो जेल जाना पड़ सकता है। ये सुनते ही अब्दुल की तबियत बिगडऩे लगे। 15 मार्च को अल्टीमेटम दिया कि बिल जल्दी जमा करवा दो, मार्च अंत तक टारगेट पूरा करना है। ये सुनने के बाद सकुर की तबियत बिगड़ती चली गई और दस दिन बाद उनकी जान चली गई। परिवार के लोगों ने आरोप लगाया है कि अफसरों की लापरवाही से ही घर के मुखिया की मौत हुई है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आध्यात्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत होगा। जिससे आपकी विचार शैली में नयापन आएगा। दूसरों की मदद करने से आत्मिक खुशी महसूस होगी। तथा व्यक्तिगत कार्य भी शांतिपूर्ण तरीके से सुलझते जाएंगे। नेगेट...

और पढ़ें