बिजली कंपनी के मैदानी वाहनों पर जीपीएस:मोबाइल पर दिख रहा कहां है गाड़ी

इंदौरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

बिजली कंपनी वाहनों का दुरुपयोग रोकने के लिए जीपीएस लगा रही है। फील्ड अधिकारियों के अब तक छः सौ वाहनों पर जीपीएस लगाए जा चुके हैं। शेष 200 वाहनों पर जीपीएस एक माह में लगा दिए जाएंगे।

वाहनों का सदुपयोग करने एवं दुरुपयोग रोकने के लिए बिजली कंपनी ने अप्रैल में ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) अनिवार्य किया था। कोरोना काल में इस कार्य में गति कुछ धीमी रही लेकिन जून में काफी वाहनों में जीपीएस लगा दिए गए हैं। अब कंपनी के प्रभारी एप के माध्यम से यह देख पाएंगे कि कौन से नंबर की गाड़ी इस वक्त कहां है? इससे गाड़ी का दुरुपयोग रुक रहा है, वहीं कंपनी के कार्यों में समय पालन व गति तेज होती नजर आ रही है। बिजली कंपनी के एमडी अमित तोमर ने इस कार्य के मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी सीजीएम संतोष टैगोर को दी है। सभी 15 जिलों में जीपीएस का काम तेजी से चल रहा है।