• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Wife Had Lodged An FIR, Two And A Half Months Did Not Arrest, The Court Ordered To Keep The CCTV Footage Of The Police Station Safe

आबकारी अधिकारी का मामला कोर्ट पहुंचा:पत्नी ने दर्ज करवाई थी FIR ,ढाई माह ने नही हुई गिरफ़्तारी ,कोर्ट ने थाने के CCTV फुटेज सुरक्षित रखने के आदेश दिए

इंदौर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला आबकारी अधिकारी विनय रंगशाही - Dainik Bhaskar
जिला आबकारी अधिकारी विनय रंगशाही

26 जून को इंदौर के भवर कुआं थाना क्षेत्र में आबकारी अधिकारी विनय रंगशाही के खिलाफ उनकी पत्नी ने दहेज प्रताड़ना सहित कई गंभीर आरोप लगाने के मामले में फरियादी के वकील ने कोर्ट में आवेदन देकर थाने के सीसीटीवी फुटेज सुरक्षित रखने और आगामी पेशी पर कोर्ट में पेश करने का आवेदन दिया था, जो कोर्ट ने मंजूर कर लिया। लगभग ढाई माह बीत जाने के बाद भी रंग शाही की गिरफ्तारी नही हो सकती जिसके बाद पीडिता ने पूर्व आईजी हरिनारायण चारी मिश्र को अपनी पीड़ा बताते हुए कार्रवाई करने का आवेदन दिया था।

सूत्रों की माने तो रंगशाही का तबादला हो गया है लेकिन पुलिस अब तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं कार पाई है। घटना के बाद पीड़ित पक्ष द्वारा कई बार पुलिस पर साठगांठ का आरोप लगाया गया है वही कोर्ट द्वारा 15.6.2021 से 10.8.2021 तक थाने के फुटेज सुरक्षित रखने के आदेश भी दिए गए हैं

थाना प्रभारी संतोष दूधी ने बताया, नेमावर रोड निवासी पीड़िता ने शिकायत की थी। पीड़िता व विनय रंगशाही और वह साथ में पढ़ते थे। इसी दौरान दोनों के बीच दोस्ती हो गई। ये दोस्ती प्यार में तब्दील हो गई। बाद में उन्होंने शादी कर ली। फरहत की भी स्वास्थ्य विभाग में नौकरी है। फरहत ने बताया, शादी के बाद से ही विनय ने दहेज के लिए परेशान करना शुरू कर दिया। विनय के पिता अशोक रंगशाही और उनकी मां भी प्रताड़ित करती थी। गौरतलब है, विनय रंगशाही कुछ समय पहले भी चर्चा में रहे थे। जब आलीराजपुर में उनके गुमशुदा होने के पोस्टर चौराहे चौराहे लगे थे।

रंगशाही पर दर्ज FIR
रंगशाही पर दर्ज FIR

पुलिस पर सांठगांठ का आरोप

फरियादी ने कोर्ट में टीआई, जांचकर्ता थानेदार और रंगशाही के खिलाफ एक और मामला दर्ज करने के लिए परिवाद लगाया है। फरियादी के वकील ने कोर्ट से टीआई और जांचकर्ता की कॉल डिटेल भी निकलवाने का आग्रह किया है। वकील का कहना है कि पुलिस ने रंगशाही से सांठगांठ कर रखी है। इसी तरह प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट मीनाक्षी शर्मा की कोर्ट में लंबित प्रकरण 3349/2021 को लेकर आग्रह किया कि कोर्ट 15.6.2021 से 10.8.2021 तक के थाने के सीसीटीवी फुटेज सुरक्षित रखने का कहे। कोर्ट ने आवेदन मंजूर कर लिया और फुटेज सुरक्षित रखने के साथ-साथ अगली पेशी पर कोर्ट में पेश करने के आदेश दिए। फरियादी के वकील ने कोर्ट में आवेदन देकर थाने के सीसीटीवी फुटेज सुरक्षित रखने और आगामी पेशी पर कोर्ट में पेश किए जाये

रंगशाही भी मिल चुके थे IG से

रंगशाही द्वारा पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय में लिखी में शिकायत की थी कि जिसमें रंगशाही ने बताया कि उक्त महिला से विनय ने कभी कोई विवाह नहीं किया।साथ ही विनय ने ज्ञापन में कहा कि महिला द्वारा प्रस्तुत किए गए दस्तावेज सभी फर्जी है और उनकी जांच होनी चाहिए।जिस संस्था का शादी का प्रमाण पत्र जारी होना बताया गया है, उस संस्था ने प्रमाण पत्र जारी करने से ही इनकार कर दिया है, जिससे यह प्रतीत होता है कि मामला फर्जी और पूर्ण रूप से सुनियोजित है। वही, विनय रंगशाही के वकील ने बताया कि महिला के बयानों में भिन्नता है। महिला बार-बार शादी की तारीख बदल रही है। जिस संस्था का विवाह प्रमाण पत्र प्रस्तुत किया है। वह संस्था प्रमाण-पत्र जारी करने से इनकार कर रही है।

खबरें और भी हैं...