• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Will Review With The Officials Regarding The Tantya Bhil Memorial Event In Patalpani, The Main Event Will Be Held On 4th

गृहमंत्री आज इंदौर में:पातालपानी में टंट्या भील स्मृति कार्यक्रम को लेकर अधिकारियों के साथ करेंगे समीक्षा, 4 को होगा मुख्य आयोजन

इंदौर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो

अमर क्रांतिकारी टंट्या भील के व्यक्तित्व और कृतित्व को जन-जन तक पहुंचाने के लिए कई आयोजन आगामी दिनों में आयोजित किए जा रहे हैं। इसमें मुख्य कार्यक्रम 4 दिसंबर को इंदौर जिले के पातालपानी में होगा। इसकी तैयारियों की समीक्षा के लिए प्रदेश के गृहमंत्री गुरुवार को इंदौर आ रहे हैं।

सीएम शिवराज सिंह चौहान की मंशानुसार 4 दिसंबर को टंट्या भील को श्रद्धा-सुमन अर्पित करने के उद्देश्य से पातालपानी में भव्य आयोजन किया जाएगा। आयोजन के पूर्व टंट्या भील की जन्म स्थली बड़ोद अहीर की मिट्टी को लेकर कलश यात्रा निकलेगी। दूसरी यात्रा सैलाना से शुरू होगी, जो पातालपानी में आयोजित इस कार्यक्रम में शामिल होगी।

गृहमंत्री करेंगे समीक्षा
पातालपानी में आगामी 3 और 4 दिसंबर को होने वाले टंट्या भील स्मृति कार्यक्रम की तैयारियों की प्रदेश के गृहमंत्री और इंदौर जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा खुद समीक्षा करेंगे। इसके लिए वे गुरुवार 25 नवंबर को इंदौर आएंगे। अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। तय कार्यक्रम के अनुसार वे गुरुवार सुबह 10.30 बजे इंदौर पहुंचेंगे।

यहां वे रेसीडेंसी कोठी में इंदौर संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा, कलेक्टर मनीष सिंह सहित पुलिस व आयोजन से जुड़े अधिकारियों के साथ बैठक कर आयोजन की समीक्षा करेंगे। जिसके बाद वे दोपहर 12.10 बजे भोपाल के लिए रवाना होंगे।

बड़ोद अहीर से 27 को तो 29 को सैलाना से यात्रा
अमर क्रांतिकारी टंट्या भील की जन्म स्थली बड़ोद अहीर से 27 नवंवर को कलश यात्रा निकाली जाएगी, जबकि सैलाना से 29 नवंबर को यात्रा शुरू होगी। दोनों यात्राएं इंदौर और उज्जैन संभाग के विभिन्न जिलों से होते हुए धार में 3 दिसंबर को आकर मिलेगी। जिसके बाद दोनों यात्राएं 4 दिसंबर को पातालपानी आएगी।

इधर, यात्रा की तैयारियों को लेकर संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने संबंधित जिलों के कलेक्टरों से चर्चा की हैं। संभागायुक्त ने जिलों के कलेक्टर और विभिन्न संगठनों से समन्वय कर आ‌वश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है।

इन रूट से पातालपानी आएगी यात्राएं
तय कार्यक्रम के अनुसार 27 नवंबर से शुरू होने वाली कलश यात्रा पहले दिन बड़ोद अहीर, नेपानगर, सिंगोट में रहेगी। 28 नवंबर को आशापुर, खंडवा, छेगांवमाखन और भीकनगांव, 29 नवंबर को झिरनिया, चिरिया, मुडिया बिस्टान और खरगोन में रहेगी। 30 नवंबर को सेगांव, नागरवाड़ी, सेंधवा और निवाली। 1 दिसंबर को पलसूद, सिलावद, बड़वानी और कुक्षी में रहेगी। 2 दिसंबर को गंधवानी, मनावर और धरमपुरी और 3 दिसंबर को नालछा होते हुए धार पहुंचेगी और 4 दिसंबर को पातालपानी आकर मुख्य कार्यक्रम में शामिल होगी।

दूसरी यात्रा 29 नवंबर को रतलाम जिले के सैलाना विधानसभा क्षेत्र के बाजना से शुरू होकर सैलाना और रतलाम पहुंचेगी। 30 नवंबर को पेटलावद, थांदला, मेघनगर और झाबुआ। इसके बाद 1 दिसंबर को रानापुर, आलीराजपुर। 2 दिसंबर को जोबट, टांडा और राजगढ़, इसके बाद 3 दिसंबर को बदनावर होते हुए धार पहुंचेगी। फिर 4 दिसंबर को पातालपानी आएगी।