• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Women Whose Index Finger Is Shorter Than The Ring Finger, There Is A Possibility Of PCOS In Them

एमजीएम मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों की स्टडी से खुलासा:जिन महिलाओं की तर्जनी, अनामिका अंगुली से छोटी, उनमें PCOS की आशंका

इंदौरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम यानी पीसीओएस। यह महिलाओं में होने वाली सामान्य समस्या है। 40 से 50 फीसदी महिलाएं आज इससे जूझ रही हैं। कई बीमारियां ऐसी होती हैं जिनका स्पष्ट कारण चिकित्सा विज्ञान के पास नहीं है। पीसीओएस भी ऐसी ही है। एमजीएम मेडिकल कॉलेज के स्त्री रोग विभाग और एनॉटॉमी विभाग के डॉक्टरों ने शारीरिक बनावट को लेकर एक स्टडी की, जिसमें पाया है कि जिनकी इंडेक्स फिंगर (तर्जनी, 2डी) रिंग फिंगर (अनामिका, 4डी) से छोटी थी, उनमें पीसीओएस पाया गया।

400 महिलाओं पर किया गया अध्ययन, 70 फीसदी में पॉलीसिस्टिक ओवेरियन सिंड्रोम

पीसीओएस एक हार्मोनल डिसीज है। करीब 400 महिलाओं पर की गई स्टडी में शोधकर्ताओं ने अंगुलियों और कमर की बनावट के आधार पर बीमारी की प्रत्याशा का आकलन किया। “ए पोटेंशियल एनॉटॉमिकल बायोमार्कर फॉर प्रेडिक्टिंग द रिस्क ऑफ डेवलपमेंट ऑफ पीसीओडी’ विषय पर 18 से 40 साल की महिलाओं पर अध्ययन में 2डी और 4डी अंगुली के अनुपात के आधार पर बीमारी का पूर्वानुमान लगाने की कोशिश की।

इनमें 200 महिलाएं वे थीं, जिन्हें समस्या थी और 200 को यह समस्या नहीं थी। यह भी देखा गया कि उलटे हाथ की तुलना में सीधे हाथ में यह अनुपात ज्यादा गड़बड़ाया हुआ था। पीसीओएस से पीड़ित महिलाओं में से 70 प्रतिशत को देर से माहवारी आई थी, जबकि सामान्य ग्रुप की 200 युवती व महिलाओं में से 15 प्रतिशत को माहवारी देर से आई। जिन 15 प्रतिशत में यह समस्या रही, उनकी भी इंडेक्स यानी तर्जनी पहली वाली अंगुली छोटी थी। ऐसी महिलाओं में फीमेल हार्मोन की तुलना में मेल हार्मोन बढ़ जाते हैं।

ऐसी महिलाओं के हाथ पुरुषों के हाथों के समान, हथेली का आकार भी उनके ही जैसा

स्त्री रोग विभाग की प्रो. डॉ. सुमित्रा यादव का कहना है हमारे पास जब महिलाएं यह समस्या लेकर आती हैं तो उसका इलाज करते हैं, लेकिन यह पता नहीं होता कि यह किस कारण से है। सामान्य रूप से पुरुषों में इंडेक्स फिंगर छोटी ही होती है और महिलाओं में रिंग फिंगर की तुलना में बड़ी होती है।

ऐसा टेस्टोस्टेरान हार्मोन के कारण होता है जो पुरुषों में ज्यादा होता है। यह पूर्व से ज्ञात तथ्य है। इस अध्ययन में पाया गया कि जिन्हें यह समस्या थी, उनकी तर्जनी अंगुली अनामिका की तुलना में छोटी थी। यानी महिला के हाथ आदमीनुमा होते हैं। हथेली का आकार भी वैसा ही था। उनमें पीसीओएस मिला।

ऐसी महिलाओं में पुरुष हार्मोन ज्यादा होते हैं

​​​​​​​यह एक हार्मोनल समस्या है। इसमें महिलाओं में एंड्रोजन (पुरुष हार्मोन) की अधिकता होती है। इससे माहवारी में अनियमितता, दर्द या लंबा मासिक धर्म, चेहरे पर अनचाहे बाल, पेल्विक दर्द सहित अन्य समस्याएं होती हैं।

खबरें और भी हैं...