• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Wrote Need For Extension Of Runway Length Up To 4 Thousand Meters For Large Aircraft Like Boeing B 777 And Boeing B 747 At Indore Airport

मंत्री सिलावट का 'सिंधिया' को पत्र:लिखा - इंदौर एयरपोर्ट पर बोईंग बी-777 और बोईंग बी-747 जैसे बड़े एयर क्राफ्ट के लिए 4 हजार मीटर तक के रनवे की लंबाई के विस्तार की जरूरत

इंदौर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एयरपोर्ट में सुविधाओं के विस्तार के लिये मंत्री सिलावट ने नागरिक उड्डयन मंत्री सिंधिया को लिखा पत्र। - Dainik Bhaskar
एयरपोर्ट में सुविधाओं के विस्तार के लिये मंत्री सिलावट ने नागरिक उड्डयन मंत्री सिंधिया को लिखा पत्र।

देवी अहिल्याबाई होल्कर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट में सुविधाओं के विस्तार के लिए जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट ने नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को पत्र लिखा है। मंत्री ने पत्र में बोईंग बी-777 एवं बोईंग बी-747 जैसे बड़े एयर क्राफ्ट के लिए 4 हजार मीटर तक के रनवे की लंबाई के विस्तार के साथ पार्किंग के निर्माण की मांग की है।

दुबई की अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट भी जल्दी जल्द शुरू करने की मांग लगातार की जा रही है। उनका कहना है कि एयर स्ट्रिप को 4 हजार मीटर तक बढ़ाने के लिए भूमि आवंटन और अधिग्रहण की कार्यवाही प्रशासन ने शुरू कर दी है। यह मध्यप्रदेश का पहला अधिसूचित विमानतल है, जिसके भविष्य के विकास के लिए ये सभी काम किए जाना आवश्यक है।

नए टर्मिनल भवन की मांग
नए टर्मिनल भवन, कंट्रोल टॉवर और नए फायर स्टेशन निर्माण की मांग के साथ ही पार्किंग स्थल पर काम की भी जरूरत बताई गई है। यह इसलिए जरूरी है क्योंकि वर्तमान टर्मिनल भवन साल में 40 लाख यात्रियों की क्षमता का है। इंदौर में 32 लाख यात्री का ट्रैफिक एक साल में हो चुका है। इसके बगल में 20. 48 एकड़ भूमि राज्य शासन द्वारा आवंटित की जा चुकी है। जिनमें ये सभी काम हो सकते हैं।

मल्टीलेबल कार पार्किंग का हो निर्माण
मेट्रो स्टेशन के साथ 20.48 एकड़ भूमि के विकास में मल्टीलेवल कार पार्किंग और दो प्रवेश, दो निकासी द्वार के निर्माण को मंत्री ने आवश्यक बताया है। पुराने टर्मिनल भवन में एक वीआईपी टर्मिनल बनाने का अनुरोध राज्य शासन की ओर से एयरपोर्ट अथॉरिटी में लंबित है। इससे इंदौर एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री के साथ ही अन्य वीआईपी के आने-जाने की व्यवस्था मुख्य टर्मिनल से अलग से सुव्यवस्थित हो सकेगी। इसी पुराने टर्मिनल के आधे भाग पर कार्गो टर्मिनल को बढ़ाए जाने की भी मांग की गई है।

अंतरराष्ट्रीय लॉजिस्टिक हब बने
एयरपोर्ट से 25 किलोमीटर दूर धार रोड पर उद्योग विभाग का राज्य औद्योगिक विकास निगम ने लगभग 150 एकड़ भूमि अंतरराष्ट्रीय लॉजिस्टिक हब के लिए रिजर्व की है। इसके विकास के लिए सड़क परिवहन मंत्रालय से आवश्यक सहयोग लिया जा रहा है। पीथमपुर के पास होने से अगर ये विकसित होता है तो एयर कार्गों के जरिए मालवा क्षेत्र में उत्पादों के मार्केटिंग में नया आयाम स्थापित होगा।

एयर कार्गो शुरू हो
मंत्री सिलावट ने कहा है कि एयरपोर्ट में जल्द से जल्द एयर कार्गो फ्लाइट्स शुरू हो। एयर कार्गो टर्मिनल शुरू हो चुका है, लेकिन एयर कार्गो फ्लाइट्स न होने से लाभ नहीं हो पा रहा है। मंत्री का कहना है कि शहर के आसपास 50-60 किलोमीटर के दायरे में एक नया अंतर राष्ट्रीय एयरपोर्ट और कार्गो सेंटर विकसित करने की प्रक्रिया शुरू करना जरूरी है। इस एयरपोर्ट में एक से अधिक एयर स्ट्रिप रहेंगी, ताकि हर प्रकार के अंतर राष्ट्रीय प्लेन वहां लैंड हो सकें।

मॉडल एयरपोर्ट में चयनित था इंदौर एयरपोर्ट

सिलावट ने कहा कि जब स्व. श्री माधवराव सिंधिया नागरिक उड्डयन एवं विमानन मंत्री थे। तब उन्होंने देश के 11 मॉडल एयरपोर्ट को विकसित करने का निर्णय लिया था, जिसमें मध्यप्रदेश का एकमात्र इंदाैर एयरपोर्ट भी शामिल था। उनके इस सपने को साकार करने के लिए देश के मॉडल एयरपोर्ट में शामिल करने के लिए इंदौर को सभी सुविधाएं दी जाना चाहिए।

खबरें और भी हैं...