पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जू का मास्टर प्लान:10 साल पहले ही मिल जाएगा जू के जानवरों को नया घर; 62 प्रजाति के 642 जानवर जू में

दिनेश जोशी | इंदौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
24 माह में इनके लिए भी जंगल जैसे बड़े बाड़े तैयार होंगे - Dainik Bhaskar
24 माह में इनके लिए भी जंगल जैसे बड़े बाड़े तैयार होंगे
  • एनिमल्स एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत ढाई साल में सफेद शेर, टाइगर, एनाकोंडा, चिंपांजी, जिराफ आएंगे
  • 325 जानवर छोटे पिंजरों में रह रहे हैं

इंदौर जू का मास्टर प्लान तय समय से करीब 10 साल पहले ही पूरा हो जाएगा। यानी 2033 तक यह सब होना था, लेकिन 2023 तक ही जू के सभी 642 जानवरों के परिसर के अंदर ही जंगल जैसा नया घर मिल जाएगा। अभी जूू में करीब 325 जानवर और पक्षी छोटे पिंजरों में रहने को मजबूर हैं। जानवरों को जू में ही जंगल जैसा माहौल देने के लिए सात साल पहले केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण की तरफ से मास्टर प्लान मंजूर किया गया था। उसमें 20 साल में 33 करोड़ रुपए खर्च कर सारे जानवरों को बड़े एनक्लोजर यानी जंगल जैसे माहौल वाले बाड़े में शिफ्ट किया जाना था।

सालों तक एक छोटे से कमरेनुमा पिंजरे में जीवन गुजार देने वाले जू के कई जानवरों को इन सात साल में बड़े एन्क्लोजर मिल चुके हैं। जू के भीतर ही कैदीबाग में बने बाड़ों में टाइगर, लॉयन, भालू, तेंदुआ और हाथी सहित 317 जानवर रह रहे हैं। वे न केवल आजादी के साथ जंगल जैसे वातावरण में विचरण कर रहे हैं, बल्कि कुंड में नहाने का भी लुत्फ उठाते हैं। जू के प्रभारी अधिकारी डॉ. उत्तम यादव का दावा है कि 2023 तक जू 100 फीसदी मास्टर प्लान के अनुसार नजर आएगा। सभी प्रजाति के जानवर बड़े जंगल जैसे खुले एन्क्लोजर में नजर आएंगे। एनाकोंडा और चिंपांजी सहित स्पेशल पांच जानवर एनिमल एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत अन्य राज्यों से आएंगे।

हम यहां रहेंगे शान से... छोटा जंगल ही सही

ढाई साल में जू में पांच स्पेशल जानवर एनिमल्स एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत जू में जाएंगे। इनमें सफेद शेर, एनाकोंडा, चिंपांजी, जिराफ और व्हाइट टाइगर शामिल हैं। 5 जानवरों के लिए देशभर के अलग-अलग जू से इंदौर जू की बातचीत चल रही है। इनमें से ज्यादातर के नए एन्क्लोजर तैयार हो रहे हैं।

52 एकड़ का जू... 40 एकड़ में हो रहा है नया विकसित
1. अब भी 10 एकड़ में पुराने पिंजरे...
जू के पास 52 एकड़ जमीन है। इसमें से लगभग 10 एकड़ पर पुराना चिड़ियाघर है। मास्टर प्लान के तहत पूरा जू 40 एकड़ जमीन पर विकसित होगा। तीन-तीन प्रजाति के जानवरों के लिए नए पिंजरे विकसित किए जाएंगे।

2. बचे जानवर बड़े बाड़े में आएंगे... अभी जू में रह रहे 15 से ज्यादा प्रजातियों के 202 पक्षी और हिरण प्रजाति के नीलगायों सहित 125 जानवर छोटे पिंजरों में रह रहे हैं, लेकिन अगले दो से ढाई साल में इनके लिए जंगल जैसे बड़े बाड़े बनकर तैयार हो जाएंगे।

3. टिकट घर हो गया शुरू... जू में अब तक मास्टर प्लान के तहत नया और भव्य गेट बनकर तैयार हो चुका है। बाहर आकर्षक फाउंटेन लगा है। भीतर सड़क से लेकर उद्यान तक विकसित हुए हैं। नया टिकट घर भी शुरू हो चुका है।

4. नई पार्किंग भी बनेगी... नौलखा बस स्टैंड के सामने शुक्ला नगर से पहले वाले हिस्से में नया पार्किंग विकसित होगा। यहां कार और दोपहिया वाहनों के लिए बड़ा पार्किंग बनकर सालभर में तैयार हो जाएगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें