पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Young Man Reached The Police Control Room With Four Bags In The Auto, Said Suspected Material In The Bag

DIG ऑफिस में हड़कंप:ऑटो से चार-पांच बैग लेकर पहुंचा युवक, बोला- मेरे बैग में संदिग्ध सामग्री, बम स्क्वॉड दस्ते ने की चेकिंग, अंदर मिले कागजात

इंदौर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बम स्क्वॉड दस्ते ने चारों बैग को जांचा, लेकिन उसमें संदिग्ध सामग्री नहीं मिली। - Dainik Bhaskar
बम स्क्वॉड दस्ते ने चारों बैग को जांचा, लेकिन उसमें संदिग्ध सामग्री नहीं मिली।

इंदौर पुलिस कंट्रोल रूम में उस समय हड़कंप मच गया, जब ऑटो से आए एक युवक ने चार-पांच बैग उतार दिए। बोला कि इसमें संदिग्ध सामग्री है। यह सुन सभी के हाथ पांव फूल गए। उन्होंने तत्काल बम स्क्वाॅड दस्ते को बुलवाया और बैग की तलाशी करवाई। बैग की तलाशी ली गई, तो उसके अंदर कागजात मिले। बैग में कुछ नहीं मिलने पर सभी ने राहत की सांस ली। बैग लेकर आया युवक मानसिक रूप से बीमार है।

ऑटो चालक अशोक युवक को कंट्रोल रूम लेकर पहुंचा था।
ऑटो चालक अशोक युवक को कंट्रोल रूम लेकर पहुंचा था।

ऐसा है घटनाक्रम

ऑटो चालक अशोक ने बताया, सुबह वह ऑटो लेकर रेडिशन चौराहे के पास खड़ा था। एक युवक चार-पांच बैग लेकर आया। बोला- मुझे थाने लेकर चलो। मैं उसे विजय नगर थाने लेकर पहुंचा। फिर उसने पलासिया स्थित कंट्रोल रूम जाने का कहा। यहां कहा, उसे रीगल चौराहे स्थित डीआईजी ऑफिस छोड़ दो। इसके बाद मैं उसे यहां लेकर आया। ऑटो में बैठने के बाद वह अपने आप में ही पता नहीं क्या-क्या बातें कर रहा था।

युवक को शंका थी कि उसके बैग में विस्फोटक है

डीआईजी ऑफिस के संतरी ने बताया कि एक व्यक्ति आया हुआ है जो खुद को इंडियन एयरफोर्स का मेंबर बताते हुए उसमें जॉब करने की बात कह रहा है। उसे शंका है कि उसके बैग में किसी ने कुछ विस्फोटक रख दिया है। पूछताछ कर बम स्क्वायड दस्ते को बुलाकर सामान चेक करवाया गया तो उसके बैग में कुछ कागज मिले। बैग खाली था, ऐसा प्रतीत हो रहा था कि जो युवक आया है वह मानसिक रूप से बीमार है। उसके पिता का नंबर मांगा गया तो उसने दिया।

कॉल कर पिता को बुलाया गया। पिता ने बताया कि वह मानसिक रूप से स्थिर नहीं है। पिता अपने साथ लेकर रवाना हो गए। पाठक ने बताया कि पिता ने बताया कि युवक इंडियन एयरफोर्स में काम करता था। एक हादसे के कारण वह अब जॉब में नहीं है। उसका इलाज चल रहा है। कुछ समय पहले वह घर से चला गया था। वह अपने मित्र के साथ रह रहा था। अभी उसे शंका थी कि उसके मित्र के भाई ने कुछ संदिग्ध सामान रख दिया था। उसे दिनांक तक याद नहीं थी। उनके पिता पैरा मिलिट्री फोर्स के मेंबर हैं।

खबरें और भी हैं...