पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

श्रीमद्भागवत कथा:कृष्ण के दर्शन मात्र से पापों का नाश होता है : पं. पाठक

राजोद16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ईश्वर की भक्ति करने से हमें परमात्मा के दर्शन होते हैं। हम जीवन के हर क्षण में जाने अनजाने पाप कर्म लादते आ रहे हैं। कलयुग में भक्ति ही एकमात्र उपाय है, जो इस दुर्लभ मनुष्य को मंजिल तक पहुंचाता है। कृष्ण के दर्शन मात्र से समस्त पापों का नाश होता है।

उक्त बात गांधी चौक स्थित तेजाजी मंदिर पर चल रही श्रीमद्भागवत कथा के चाैथे दिन पं. दीपेश पाठक ने कही। पं. पाठक ने कहा कि हरि भक्ति से पापों का नाश होता है। हमें अंदर के विकारों को बहार निकालना चाहिए। भागवत कथा को जीवन में उतारना चाहिए।

कंस के आतंक को खत्म करने के लिए भगवान ने रात्रि के प्रहर में अवतार लिया था। बालिकाओं ने गरबा खेला शाम 4 बजे मंदिर परिसर मे भगवान कृष्ण का जन्मोत्सव मनाया गया। बालिकाओं ने गरबा खेला, मटकियां फोड़ी, माखन मिश्री का प्रसाद बांटा नंदलाल के जयकारे लगाए।

खबरें और भी हैं...