जांच / आयुर्वेदिक क्लीनिक की सुधारी जाए खामियां, स्वास्थ्य विभाग नियमित रूप से कर रहा है निजी क्लीनिकों की जांच

X

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 07:32 AM IST

राणापुर. नगर में इन दिनों स्वास्थ्य विभाग द्वारा नियमित रूप से निजी क्लिनिक की भी जांच की जा रही है। हर जगह तमाम अनियमितता मिलने के बावजूद विभाग सख्त कार्रवाई नहीं कर रहा। केवल समझाइश देकर खानापूर्ति की जा रही है। शुक्रवार को दादावाड़ी रोड स्थित आयुर्वेदिक क्लीनिक पर अनेक कमियां मिली।

यहां ब्लॉक मेडिकल ऑफिसर डॉ. गणपतसिंह चौहान, आरबीएस के आयुष एमओ डॉ. लोकेश दवे, बीईई मानसिंह निरीक्षण पर पहुंचे थे। यह रजिस्टर्ड क्लीनिक आयुर्वेदिक चिकित्सक राकेश नायक द्वारा चलाया जा रहा है। यहां मरीजों का रिकार्ड नहीं मिला। जबकि इस महामारी के समय हर मरीज का उचित रिकार्ड रखना बेहद जरूरी है। अन्य खामियां भी मिली। इस पर डॉ. चौहान व डॉ. दवे ने नायक को समझाइश दी। ज्ञात रहे गुरुवार को भी मौलाना गली में मेडिकल स्टोर्स की आड़ में पूरा अस्पताल संचालित करते बंगाली डॉक्टर को पकड़ा था। अस्पताल सील कर दिया परंतु बंगाली डॉक्टर के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं कराया गया। उधर, पूर्व से सील किए एमएस अस्पताल में भी गुपचुप तरीके से मरीजों का इलाज होते पाया गया था। उसे भी फिर से सील किया गया था। यहां भी अस्पताल संचालक को बख्श दिया गया। भोईवाड़ा में भी एक अन्य निजी चिकित्सक को समझाइश देकर छोड़ दिया गया था। बीएमओ डॉ. चौहान ने बताया इनसे डॉक्यूमेंट मंगवाए गए हैं। उसके बाद अगली कार्रवाई तय की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा लक्ष्मीबाई मार्ग में मुंबई से आए सचिन सकलेचा उनकी पत्नी हर्षिता, श्रेष्ठा को घर की तीसरी मंजिल पर होम क्वारेंटाइन किया। अंतिम एवं हर्ष चौहान एमजी रोड को रतलाम से आने पर होम क्वारेंटाइन किया गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना