पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पर्युषण पर्व:14 स्वप्नों और शास्त्रजी के साथ निकाला पानाजी का जुलूस

राणापुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पर्युषण पर्व के चौथे दिन सोमवार को कल्पसूत्रजी को जुलूस के रूप में रात जागरण के लाभार्थी चंद्रसेन कटारिया के निवास से जुलूस के रूप में श्री मुनिसुव्रत स्वामी जिनालय लाया गया। यहां लाभार्थी दिनेश चंद्र नाहर ने कल्पसूत्रजी को शास्त्र वाचक मनोहरलाल नाहर को वोहराया। जिसके बाद 14 स्वप्नों को नगर में भ्रमण करवाने की बोलियां हुई। दोपहर में शास्त्रजी के साथ में 14 सपनाजी को सिर पर रखकर जुलूस के रूप में निकाला गया। जुलूस में महिलाएं एक जैसी ड्रेस कोड चुंदरी पहने हुए थी।

अनेक महिलाओं ने चुंदरी के व्रत भी किए। जुलूस नगर भ्रमण कर श्रीमुनिसुव्रत स्वामी जिनालय पहुंचा। यहां आरती की बोलियां हुई। जिनमें भगवान की आरती का लाभ विनोद सालेचा ने, मंगल दिवा जयप्रकाश सालेचा ने, गुरुदेव की शेतानमल कटारिया ने, ज्ञान जी की समरथमल नाहर ने लिया। प्रभावना लक्ष्मीचंद नाहर की ओर से वितरित की गई। आरती पश्चात कल्पसूत्रजी का वाचन मनोहरलाल नाहर ने किया।
रात्रि भक्ति में झूमे भक्त
रविवार रात को कल्पसूत्रजी को अपने घर लाने का लाभ लेने वाले जयेश चंद्रसेन कटारिया के यहां भक्ति का आयोजन हुआ। लगभग 2 घंटे चली भक्ति में भक्त पार्श्व संगीत मंडल के पवन नाहर, जितेंद्र सालेचा व कमलेश कटारिया के द्वारा गाये भजनों पर खूब झूमते नाचते आनंद उठाया।

खबरें और भी हैं...