पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नाचते-झूमते जयकारे लगाए:राणापुर: तप की अनुमोदना में निकला तपस्वी का वरघोड़ा

राणापुर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नगर में वरघोड़ा निकालते हुए समाजजन। - Dainik Bhaskar
नगर में वरघोड़ा निकालते हुए समाजजन।

रविवार को ज्योति दिनेश सालेचा व सुदर्शना नाहर के 9 उपवास तप के देवपूजन का कार्यक्रम हुआ। सुबह शासनमाता की पूजन की गई। जिसके बाद ज्योति सालेचा के तप अनुमोदनार्थ वरघोड़ा उनके निवास से निकला। बारिश की रिमझिम फुहारों ने भी तपस्वी के तप की अनुमोदना की। पूरे जुलूस में युवाओं ने नाचते झूमते तप की अनुमोदना के जयकारे लगाए।

भक्ति गीतों युवा खूब झूमे। चौराहों पर गरबा किया गया। जुलूस पूरे नगर में घूमते हुए अनुमोदना स्थल श्री मुनिसुव्रतस्वामी जिनालय पहुचा। यहां दोनों तपस्वी के अनुमोदन का कार्यक्रम हुआ। सर्वप्रथम स्तवन की प्रस्तुति पवन नाहर ने देते हुए अनुमोदना की।

जिसके बाद श्रीसंघ के वरिष्ठ मनोहरलाल नाहर, सोहनलाल सेठ, राजेंद्र सियाल, महेश जैन, पद्मा सेठ आदि अपने शब्दों से तप के महत्व को बताते हुए कहा कि तप से काया का सृजन होता है। तप को मोक्ष का मार्ग बताया। छोटे-छोटे तप को बड़ी तपस्या करने के बारे में समझाया।

शब्द अनुमोदना के बाद तपस्वियों के बहुमान का कार्यक्रम हुआ।जिसमें श्री मुनिसुव्रत जैन श्वेतांबर श्री संघ से मनोहर नाहर, इंदरमल कटारिया, मदनलाल नाहर, रमेशचंद्र सालेचा ने दोनों तपस्वी का बहुमान किया। श्री राजेंद्र जैन नवयुवक परिषद से अध्यक्ष पवन नाहर, ललित सालेचा, जितेंद्र सालेचा, विनय कटारिया, मनीष कटारिया ने बहुमान किया।

खबरें और भी हैं...