पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Sardarpur
  • SDO Got A Budget Of 14 Thousand Rupees For Cleaning The Canal, The Farmers Said That The Farmers Who Are Taking Water Should Clean It

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अनदेखी:नहर की सफाई के लिए 14 हजार रुपए का बजट मिला एसडीओ बोले- जो किसान पानी ले रहे वह करें साफ

सरदारपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गोविंदपुरा जलाशय से रबी फसल के लिए छोड़ा जाना है पानी

सरदारपुर स्थित गोविंदपुरा जलाशय की नहर में रबी सीजन के लिए दशहरा बाद पानी छाेड़ा जाना है। लेकिन अब तक इसकी सफाई नहीं हुई। नहराें में घास, कूड़ा-कचरा भरा पड़ा हैं। इस नहर से पांच गांव के किसानाें की 500 हेक्टेयर जमीन में सिंचाई हाेती हैं।

ऐसे में नहर की सफाई नहीं हाेने से अंतिम छाेर वाले किसानाें काे पानी नहीं मिल पाएगा। विभागीय अधिकारी कह रहे हमें इस साल शासन स्तर से नहर सफाई के लिए 14 हजार रुपए का आवंटन मिला है। इस राशि से आठ किमी में फैली नहर की सफाई कराना मुमकिन नहीं है।

दरअसल 80 हेक्टेयर में फैले गोविंदपुरा जलाशय की नहरे 8 किमी में फैली है। इसकी दाे नहराें के माध्यम से फुलगांवड़ी, सरदारपुर, बड़वेली, गाेविंदपुरा और कुम्हार पाट के किसानाें की करीब 500 हेक्टेयर में सिंचाई के लिए पानी छाेड़ा जाता है। प्रतिवर्ष इस नहर की सफाई के लिए एक लाख रु. से अधिक राशि आती है। इस बार काेराेना के चलते शासन स्तर से मात्र 14 हजार रु. दिए गए। इससे किसान को गेहूं, चने की फसल में सिंचाई के लिए पानी की चिंता सताने लगी है।

सिंचाई के लिए चार बार छाेड़ा जाता है पानी : नहराें के माध्यम से सिंचाई के लिए चार बार पानी छाेड़ा जाता हैं। इसके बाद गर्मी आने से नहराें में पानी छाेड़ना बंद कर दिया है। एक से डेढ़ मीटर पानी राजगढ़, सरदापुर नगर की पेयजल व्यवस्था के लिए रखा जाता है। जहां से नगर परिषदें पाइप लाइन से पानी ले जाती है। तालाब में वर्तमान में 13 मीटर तक लबालब पानी भरा है।

पानी लेने का शुल्क चुकाते हैं, सफाई क्यों करें : किसान

सिंचाई विभाग के एसडीओ अशोक गर्ग ने बताया नहर की सफाई के लिए 14 हजार की राशि मिली है। इसे राशि से नहर की सफाई होना मुश्किल है। जो किसान इस नहर से अपनी फसल को सिंचित करने के लिए पानी लेते हैं वे खुद नहर की सफाई करें। फुलगांवड़ी के किसान गाेपाल चाैधरी, लालू पटेल ने बताया नहर सफाई कराने की जिम्मेदारी सिंचाई विभाग की है।

किसान नहर से पानी लेते हैं तो सिंचाई विभाग को इसका शुल्क भी चुकाते हैं। ऐसे में हम सफाई क्यों करें। सिंचाई विभाग काे शासन से अधिक राशि की मांग करनी चाहिए। शासन से राशि नहीं मिलने की दशा में विभाग राशि का समायाेजन कर सफाई कराए। रबी की फसल के लिए पानी की अनावश्यकता रहेगी। मामले में शीघ्र कार्रवाई कर नहराें की सफाई विभाग कराए।

कुछ रास्ता जरूर निकालेंगे

नहर की सफाई के लिए अधिक राशि की मांग का प्रस्ताव भेजा था। शासन स्तर से 14 हजार रु. आए हैं। इस राशि से सफाई कराना मुश्किल है। कुछ न कुछ रास्ता जरूर निकालेंगे।

-अशाेक गर्ग, एसडीओ, सिंचाई विभाग, सरदारपुर

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें