• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Went To Have A Cock Party With Friends, Died After Falling In A Well Made In The Field, Friends Kept Lying To Family

100 दिन बाद गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज:दोस्तों के साथ गया था मुर्गा पार्टी करने, खेत में बने कुएं में गिरकर हो गई मौत, परिजनों से झूठ बोलते रहे दोस्त

जबलपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
खेत में बने कुएं में गिर कर हुई थी बलिराम की मौत। - Dainik Bhaskar
खेत में बने कुएं में गिर कर हुई थी बलिराम की मौत।
  • बरगी पुलिस ने जांच के बाद दोनों दोस्तों के खिलाफ मामला दर्ज किया
  • 15 नवंबर 2020 को दोस्तों संग गया था पार्टी करने, 16 को खेत में बने कुए में मिला था शव

दोस्तों के साथ मुर्गा-दारू पार्टी मनाने गए युवक की खेत में बने कुएं में गिरने से मौत हो गई। दोस्तों से घरवालों ने पूछा तो उन्होंने झूठ बोल दिया कि उसे घर के सामने छोड़ गए थे। 100 दिन बाद दोनों दोस्तों की झूठी उन पर ही भारी पड़ गई। बरगी पुलिस ने दोनों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया। जांच में सामने आया कि दोस्त के कुएं में गिरने पर भी दोनों ने बचाने की कोई भी कोशिश नहीं की।

जानकारी के अनुसार तिन्सी निवासी पुरूषोत्तम परते ने 16 नवम्बर 2020 को थाने में सूचना दी थी कि उसका चचेरा भाई बलिराम परते (38) दोस्त दीपक साहू, भूरा गोटिया के साथ पार्टी मनाने गया था। वह घर नहीं लौटा। पुलिस ने गुम इंसान कायम कर जांच में लिया था। पुरूषोत्तम ने ये भी बताया था कि दीपक साहू व भूरा गोटिया पार्टी मनाने राजकुमार साहू के खेत में गए थे। दीपक ने राजकुमार का खेत ठेका पर लिया है।

खेत के कुएं में मिला बलिराम का शव

पुलिस ने मौके पर पहुंच कर तलाश की तो खेत में बने कुएं में बलिराम का शव मिला। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया था। पुलिस की जाचं में सामने आया कि राजकुमार साहू के खेत में कुआ व झोपड़ी बनी है। बलिराम के दोस्त दीपक साहू, भूरा गोटिया, शुभम साहू, नेमीचंद उर्फ नेमी सेन, अनिल रजक, अमित साहू के द्वारा सिकमी में लिए खेत में दारू मुर्गा की पार्टी किए थे। शुभम साहू, नेमीचंद उर्फ नेमी सेन, अनिल रजक, अमित साहू पार्टी करके वापस चले गए।

तीनों ने बैठकर खेत में और शराब पी थी

बलिराम, दीपक व भूरा ने वहीं पर बैठकर और शराब पी। नशे ही बलिराम कुएं में गिर गया। दीपक व भूरा ने उसे बचाने की कोशिश नहीं की। दोनों चुपचाप घर चले गए। वहां अगले दिन परिजनों ने पूछा तो दोनों ने बोल दिया कि वे बलिराम को घर के सामने छोड़ दिया था। बरगी पुलिस ने 100 दिन बाद दीपक व भूरा के खिलाफ धारा 304, 201, 34 भादवि का प्रकरण दर्ज कर जांच में लिया है।

खबरें और भी हैं...