• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Three New Infected Including Pediatric Cardiologist Were Found, Doctors Returned Through Chennai Workshop

जबलपुर में कोविड के 11 एक्टिव केस:शिशु हृदय रोग विशेषज्ञ सहित तीन नए संक्रमित मिले, चेन्नई कार्यशाला से होकर लौट थे डॉक्टर

जबलपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
शिशु हृदय राेग विशेषज्ञ सहित तीन नए संक्रमितों के बाद जिले में कोविड के 11 केस एक्टिव हो गए हैं। - Dainik Bhaskar
शिशु हृदय राेग विशेषज्ञ सहित तीन नए संक्रमितों के बाद जिले में कोविड के 11 केस एक्टिव हो गए हैं।

जिले में कोविड संक्रमितों का एक्टिव केस दहाई के आंकड़े को पार कर गया है। बुधवार 08 दिसंबर को तीन नए संक्रमित सामने आए। संक्रमितों में एक शिशु हृदय रोग विशेषज्ञ भी शामिल हैं। उधर, जर्मनी के युवक के संपर्क में आए 40 लोगों में तीन और संभागायुक्त के संपर्क में आए 70 लोगों में 6 संदिग्धों के फिर से सैंपल लिए जा रहे हैं।

जबलपुर में बुधवार को 5316 सैंपल की रिपोर्ट प्राप्त हुई थी। इसमें तीन लोग जहां संक्रमित मिले हैं। वहीं दो संक्रमित स्वस्थ्य होकर घर पहुंच गए हैं। तीनों संक्रमित में एक शिशु हृदय रोग विशेषज्ञ शामिल हैं। वे चेन्नई में एक कार्यशाला में शामिल होकर शहर लौटे है। तीन नए संक्रमितों के बाद अब तक जिले में कुल 50 हजार 821 लोग संक्रमित हो चुके हैं। वहीं डिस्चार्ज किए गए दो संक्रमितों सहित अब तक 50 हजार 133 लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। जिले में अब तक कोविड से 675 लोगों की मौत हुई है। 08 दिसंबर तक जिले में कुल एक्टिव केस 11 हो गए हैं।

जेटीपीसी सीईओ के विदेशी मेहमान के संपर्क में आए 40 लोगों में तीन संदिग्ध

उधर, अधारताल निवासी जेटीपीसी सीईओ हेमंत सिंह के विदेशी मेहमान के संपर्क में आए 40 लोगों में तीन के नमूने संदिग्ध मिले हैं। इस कारण इन लोगों के फिर से सैंपल लेकर आरटीपीसीआर जांच कराई जा रही है। वहीं संभागायुक्त बी. चंद्रशेखर के कार्यालय में कार्यरत 70 लोगों के लिए गए सैंपल में 6 के नमूने संदिग्ध मिले हैं। इनके सैंपल में ऑफ्टर 24 आवर्स लिखा गया है। इनकी भी फिर से आरटीपीसीआर जांच कराई जाएगी।

वैक्सीनेशन की रफ्तार कुछ बढ़ी जरूर है, लेकिन इसे और बढ़ानी होगी।
वैक्सीनेशन की रफ्तार कुछ बढ़ी जरूर है, लेकिन इसे और बढ़ानी होगी।

वैक्सीनेशन की ये है रफ्तार

जिले में अब तक 36.73 लाख वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है। कुल 19.55 लाख लोगों को जहां वैक्सीन की पहली डोज लगी है। वहीं इसमें 17.17 लाख लोग वैक्सीन की दोनों डोज लगवा चुके हैं। जिले में अभी 9 प्रतिशत लोग पहले डोज से और 12 प्रतिशत लोग दूसरे डोज लगवाने से वंचित है। सरकार ने दिसंबर तक वैक्सीनेशन पूरा करने का लक्ष्य दिया है। जिले में हेल्थ वर्कर्स, फ्रंट लाइन वर्कर्स और 45 से अधिक उम्र के लोगों का वैक्सीनेशन पूरा हो चुका है। 18 से 44 उम्र के, गर्भवती महिलाएं और स्तनपान कराने वाली महिलाएं ही वैक्सीनेशन के टार्गेट से पीछे चल रही हैं।