जबलपुर में 23 नए संक्रमित:कोविड सस्पेक्टेड वार्ड में दो मरीजों की मौत, प्रशासन का दावा- इनकी रिपोर्ट निगेटिव

जबलपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जबलपुर में कोविड के एक्टिव केस बढ़कर 73 पहुंचा। 11 संक्रमित अस्पताल में भर्ती। - Dainik Bhaskar
जबलपुर में कोविड के एक्टिव केस बढ़कर 73 पहुंचा। 11 संक्रमित अस्पताल में भर्ती।

जबलपुर में लगातार दूसरे दिन 20 से अधिक कोविड के नए मरीज मिले। मंगलवार को 23 नए संक्रमितों के साथ ही जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 73 हो गई है। संक्रमितों में UAE से लौटा एक युवक भी शामिल है। उसे मेडिकल कॉलेज के कोविड वार्ड में भर्ती कराया गया है। उसका जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए सैम्पल भेजा जाएगा। कोविड सस्पेक्टेड वार्ड में दो मरीजों की मौत हो गई। प्रशासन का दावा है कि दोनों की रिपोर्ट निगेटिव है।

प्रशासन की ओर से जारी आंकड़े के मुताबिक 5323 सैम्पल में 23 नए संक्रमित मिले। जिले में पिछले चार दिनों में 49 केस सामने आ चुके हैं। कोविड के नए मामले आने की यही रफ्तार रही तो जिले में 15 जनवरी के बाद हालात बेकाबू हो जाएंगे। जिले में अभी ओमिक्रॉन के एक भी मामले की पुष्टि तो नहीं हुई है, लेकिन छिंदवाड़ा में केस मिलने के बाद यहां भी आशंका बढ़ गई है।

50% संक्रमितों की ट्रैवल हिस्ट्री

हेल्थ विभाग के मुताबिक जिले में 23 नए संक्रमितों में 4 बैंगलुरु, 1 यूएई, 3 दिल्ली, 1 अनूपपुर, 2 भोपाल से लौटने के बाद बीमार पड़े। इन संक्रमितों में 7 महिलाएं हैं। संक्रमितों में 22 वर्ष से 35 वर्ष के युवक अधिक है। यूएई मरीज को छोड़कर सभी होम आइसोलेट हैं। सभी में हल्के लक्षण ही देखे गए हैं। जिले में अब तक कोविड के संक्रमितों की संख्या बढ़कर 50 हजार 908 हो चुकी है। 50 हजार 161 लोग ठीक हो चुके हैं।

दो संदिग्धों की कोविड सस्पेक्टेड वार्ड में मौत

जबलपुर मेडिकल कॉलेज के कोविड सस्पेक्टेड वार्ड में भर्ती दो मरीजों की मौत का मामला सामने आया है। दोनों संदिग्धों की मौत के बाद प्रशासन का दावा है कि उनकी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है। सोमवार शाम को मेडिकल के कोविड सस्पेक्टेड वार्ड में भर्ती 72 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हुई। 45 वर्षीय युवक ने मंगलवार को दम तोड़ा। कोरोना जैसे लक्षण के चलते दोनों को भर्ती कराया गया था। पर मेडिकल की वायरोलाजी लैब भेजे गए सैम्पल की रिपोर्ट आने से पहले ही एक की मौत हो गई। चिकित्सकों के मुताबिक दोनों कई गंभीर बीमारियों से पीड़ित थे।

नागपुर व छिंदवाड़ा आवागमन पर रोक नहीं

कोविड के बढ़ते मरीजों ने चिंता बढ़ा दी है। छिंदवाड़ा में ओमिक्रॉन के मरीज मिलने के बावजूद वहां से शहर आने-जाने पर किसी तरह की रोक नहीं लगाई गई है। इसी तरह नागपुर से भी बस सेवा व ट्रेन सेवा जारी है। दोनों शहरों से आवाजाही के चलते शहर में भी ओमक्रॉन और डेल्टा वैरिएंट के फैलने का खतरा बढ़ता जा रहा है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. रत्नेश कुरारिया ने बताया कि मास्क का उपयोग, शारीरिक दूरी समेत कोरोना प्रोटोकॉल का पालन अनिवार्य रूप से करें। वैक्सीनेशन से वंचित रह गए हो तो तत्काल अपने पास के सेंटर पहुंच कर कोविड का टीका लगवा लें।

खबरें और भी हैं...