राहत / भाजपा नेता राममूर्ति मिश्रा सहित 3 को मिली राहत

X

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

जबलपुर. एक जमीन पर हो रहे निर्माण से संबंधित विवाद में फँसे भाजपा नेता राममूर्ति मिश्रा और उनके पुत्र पदमेश व पदम को हाईकोर्ट ने एससी-एसटी एक्ट की धाराओं से उनमुक्त कर दिया है। जस्टिस राजेन्द्र कुमार श्रीवास्तव की एकलपीठ ने रामपुर छापर में रहने वाले जियालाल गूजर के परिवाद पर निचली अदालत द्वारा 6 सितंबर 2016 को आरोप तय किए जाने को चुनौती देने वाली दो याचिकाओं पर यह आदेश सुनाया। तीनों के खिलाफ भादंवि की धारा 294, 323, 34 व 506 बी के तहत मुकदमा चलेगा। आवेदकों की ओर से वरिष्ठ अधिवक्ता आदर्शमुनि त्रिवेदी व अधिवक्ता एसके मिश्रा ने पैरवी की। 
अब पीडीएफ फॉर्मेट में पेश होंगी केस डायरियाँ
हाईकोर्ट में दायर होने वाली जमानत अर्जियों की सुनवाई केस डायरी के अभाव में न टले, इसलिए महाधिवक्ता ने पुलिस विभाग को निर्देश जारी किए हैं कि संबंधित प्रकरणों की डायरी पीडीएफ फॉर्मेट में भेजी जाएँ। मप्र हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के सचिव मनीष तिवारी ने बताया कि केस डायरी के अभाव में मुकदमों की सुनवाई अनावश्यक रूप से बढ़ने पर एक पत्र महाधिवक्ता पुरुषेन्द्र कौरव को लिखा गया था, ताकि वे संबंधितों को उचित निर्देश जारी कर सकें। श्री तिवारी के अनुसार सुनवाई की व्यवस्थाओं में सुधार को लेकर भी हाईकोर्ट के रजिस्ट्री कार्यालय के अधिकारियों से संपर्क बनाए हुए हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना