• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • On The Input Of IG, Police Arrested Two Smugglers Riding A Truck, Ganja Was Going From Andhra To Sultanpur In UP

जबलपुर में 615 किलो गांजा जब्त:बरगी पुलिस ने ट्रक सवार दो तस्करों को दबोचा, आंध्रा से यूपी के सुल्तानपुर जा रहा था गांजा

जबलपुर7 महीने पहले

नारकोटिक्स इंटेलीजेन्ट्स यूनिट की सूचना पर जबलपुर में अब तक की गांजा की सबसे बड़ी जब्ती हुई है। बरगी पुलिस ने मिनी ट्रक सवार दो तस्करों को दबोचते हुए 615 किलो गांजा जब्त किए हैं। इसकी कीमत 10 लाख से अधिक बताई जा रही है। ये गांजा आंध्रा से यूपी के सुल्तानपुर ले जाया जा रहा था। कार्रवाई की सूचना पाकर एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा और आईजी जोन उमेश जोगा भी बरगी पहुंचे थे।

नारकोटिक्स इंटेलीजेंट्स यूनिट जोन जबलपुर और बरगी पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए मिनी ट्रक एमएच 48 बीएम 0410 को तिन्सी स्थित गजना नाला के पास रोका। मिनी ट्रक सिवनी की ओर से आ रहा था। केबिन में ड्राइवर राजेंद्र यादव (32) निवासी सकवा थाना लंभुआ जिला सुल्तानपुर यूपी और उसके साथ हेल्पर राघवेन्द्र पाण्डे (44) निवासी ग्राम पल्हान थाना बैकुंठपुर जिला रीवा मिले।

मिनी ट्रक में लाई के नीचे छुपा कर ला रहे थे गांजा।
मिनी ट्रक में लाई के नीचे छुपा कर ला रहे थे गांजा।

मुरमुरा (लाई) के नीचे छुपाया था गांजा

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि ट्रक में मुरमुरा (लाई) लोड है। ट्रक में लगभग 200 बोरियों में मुरमुरा (लाई) और उसके पीछे 30 बोरियों में गांजा भरा मिला। बोरियों में भरे गांजे की तौल करने पर 615 किलो गांजा मिला। इसकी कीमती लगभग 10 लाख रुपए बताई जा रही है। बरगी पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार करते हुए गांजा सहित मिनी ट्रक जब्त कर लिए। आरोपियों के पास से चार मोबाइल और 4170 रुपए भी जब्त किए।

आंध्रा से सुल्तानपुर यूपी ले जा रहे थे गांजा

बरगी थाने में आरोपियों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट का प्रकरण दर्ज करते हुए पुलिस ने दोनों से पूछताछ की तो नई जानकारी मिली। अभी तक ओडिशा से गांजा लाने वाले तस्कर इस बार आंध्रा के अन्ना बरम से गांजा लेकर निकले थे। वे यूपी के सुल्तानपुर गांजा ले जा रहे थे। कार्रवाई के दौरान एएसपी शिवेश सिंह बघेल, सीएसपी अपूर्वा किलेदार, डीएसपी क्राइम ब्रांच प्रभात पांडे, बरगी टीआई रीतेश पांडे, केंट टीआई विजय तिवारी, आईजी कार्यालय की रूही तिवारी और बरगी थाने का स्टाफ शामिल रहा।

आईजी उमेश जोगा की बड़ी भूमिका

आईजी उमेश जोगा के जबलपुर जोन का कार्यभार संभालने के बाद लगातार गांजा तस्कर पकड़े जा रहे हैं। ओड़िशा व आंध्रप्रदेश से बड़ी मात्रा में गांजा मंडला-डिंडोरी, सिवनी होकर जबलपुर के रास्ते आगे ले जाया जाता है। जोगा ने रीवा रहते हुए एनडीपीएस तस्करों की कम तोड़ दी थी। नारकोटिक्स मामले में उनका गजब का नेटवर्क है। इसके लिए जोन के सायबर सेल की एक टीम बना रखी है, जो इन तस्करों की गतिविधियों पर नजर रखती है।