• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • 48 Cases Were Found In December, Six Times Cases Came In January, The High Court Asked What Is The Preparation To Fight The Third Wave

जबलपुर में 96 नए संक्रमित:दिसंबर में मिले थे 48 केस, जनवरी में आ गए 6 गुना; हाईकोर्ट ने पूछा- तीसरी लहर से लड़ने की क्या है तैयारी

जबलपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जबलपुर में जनवरी के पहले सात दिन में मरीजों की संख्या बढ़कर 306 हो गई। - Dainik Bhaskar
जबलपुर में जनवरी के पहले सात दिन में मरीजों की संख्या बढ़कर 306 हो गई।

जबलपुर में शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन 90 से अधिक संक्रमित सामने आए। 96 संक्रमितों के साथ जनवरी के पहले सात दिनों में ही मरीजों की संख्या बढ़कर 306 हो गई। ये दिसंबर में मिले 48 की तुलना में लगभग छह गुना अधिक है। कोरोना के बढ़ते मामलों ने जिले में तीसरी लहर आने की पुष्टि कर दी है। दो संक्रमितों के स्वस्थ होने के बाद एक्टिव केस 329 हैं।

प्रशासन के मुताबिक नए 96 संक्रमितों में आधे की ट्रैवल हिस्ट्री मिली है। पांच हजार 78 सैम्पल की रिपोर्ट में ये संक्रमित मिले हैं। रिकवरी दर घटकर 98.04 प्रतिशत रह गया है। पॉजिटिविटी दर 1.89 प्रतिशत पर पहुंच गया। जिले में कोविड के बढ़ते मामले के बीच प्रशासन ने भी मान लिया है कि तीसरी लहर आ चुकी है। बावजूद बाजारों में अभी सख्ती नहीं दिख रही है।

इस तरह जबलपुर में बढ़ा संक्रमण

  • अक्टूबर में केस आए-12
  • नवंबर में केस आए-24
  • दिसंबर में केस आए-48
  • जनवरी के पहले सात दिन में केस आए-306

बिना मास्क के घूम रहे लोग

जिले में बिना मास्क के लोग घूम रहे हैं। सोशल डिस्टेंसिंग गायब है। हालांकि कलेक्टर कर्मवीर शर्मा का दावा है कि लगातार कोविड गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों का चालान किया जा रहा है। पिछले दो दिनों से दो हजार से अधिक लोगों का चालान बिना मास्क के चलते बनाया गया। अभी जिले में बिना मास्क होने पर 100 रुपए का जुर्माना लगाया जा रहा है। वहीं दुकानदारों से 200 रुपए लिए जा रहे हैं।

जनवरी में सात दिनों में आए केस
तारीखसेम्पल जांचसंक्रमित मिलेएक्टिव केस
01 जनवरी53120129
02 जनवरी52060430
03 जनवरी53102150
04 जनवरी53232373
05 जनवरी515070143
06 जनवरी509192235
07 जनवरी507896329
कोविड माले में एमपी हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया।
कोविड माले में एमपी हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया।

प्रदेश में बढ़ते कोविड मामले में हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया

उधर, प्रदेश में कोविड के बढ़ते मामले को देखते हुए मप्र हाइकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लिया है। सरकार से पूछा है कि तीसरी लहर से निपटने की क्या तैयारी है? चीफ जस्टिस रवि मलिमठ और पीके कौरव की डबल बेंच ने कोर्ट मित्र वरिष्ठ अधिवक्ता नमन नागरथ के सवालों के बाद राज्य सरकार से विस्तृत रिपोर्ट पेश करने के निर्देश दिए हैं। मामले की अगली सुनवाई दो सप्ताह बाद होगी। कोविड इलाज में हो रही अनियमितता और निजी अस्पतालों की मनमानी के मामले में हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लेते हुए जनहित याचिका के तौर पर सुनवाई शुरू की है।

खबरें और भी हैं...