कार्रवाई / कुछ दिन पहले माफी माँगने वाले डीआई ने फिर माँगे रुपए, सस्पेंड

A few days ago DI apologized again asked for money, suspended
X
A few days ago DI apologized again asked for money, suspended

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

जबलपुर. कोरोना संक्रमण में दवा दुकानदारों पर अनावश्यक दबाव बनाकर अवैध वसूली की शिकायतों से घिरे ड्रग इंस्पेक्टर रामलखन पटेल को संभागीय आयुक्त महेशचंद्र चौधरी ने सस्पेंड कर दिया है। उक्त विवादित अधिकारी ने कुछ दिन पहले ग्रामीण क्षेत्रों की दवा दुकानों में रात के वक्त पहुँचकर मॉस्क आदि के बिल की माँग कर दुकानदारों से अभद्रता की थी। वह विवाद बढ़ा तो जिले के दुकानदारों ने हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी, तब इस अधिकारी ने ड्रग एसोसिएशन के पदाधिकारियों से लिखित में माफी माँगी थी। शुक्रवार को वह मेडिकल के सामने स्थित दवा दुकानों में पहुँचा तथा जाँच के नाम पर दबाव बनाते हुए दुकानदारों से 10-10 हजार रुपए की माँग की। दुकानदारों ने इसका विरोध किया, मौके पर पहुँचे एसडीएम आशीष पांडे ने भी डीआई के जाँच के तरीके पर सवाल उठाते हुए उन्हें फटकार लगाई। मेडिकल के नाराज दवा दुकानदारों ने कार्यवाही की माँग कर दुकानें बंद कर दीं, वहीं घटना की खबर मिलते ही शाम 4 बजे के करीब शहर की भी अधिकांश दवा दुकानें बंद हो गई थीं। मेडिकल के दवा दुकानदारों ने एसडीएम गोरखपुर को शिकायत पत्र लिखकर कार्यवाही न होने तक दुकानें बंद रखने की जानकारी दी। अधिकारी की इस हरकत की जानकारी मिलने पर विरोध स्वरूप पड़ोसी जिलों में भी दवा दुकानें बंद होने की सूचना है। केमिस्ट एंड ड्रग एसोसिएशन के अध्यक्ष सुधीर बठीजा ने बताया कि डीआ ई पटेल द्वारा रिश्वत न देने पर दुकान सील करने की धमकी दी जाती है। 
संभागीय आयुक्त चौधरी ने निलंबन की कार्यवाही मध्यप्रदेश सिविल सेवा (वर्गीकरण नियंत्रण एवं अपील) नियम 1966 के प्रावधानों के तहत कलेक्टर भरत यादव की अनुशंसा पर की, उसे कमिश्नर ऑफिस में अटैच किया गया है। इसके पूर्व भी निलंबित ड्रग इंस्पेक्टर को दवा व्यापारियों की शिकायतों पर अपर कलेक्टर द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था।    

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना