दो दिवसीय स्वास्थ्य मेले का समापन:आरबीएसके के अंतर्गत करीब 60 बच्चों को इलाज के लिए किया गया चिह्नित

जबलपुर13 दिन पहले
स्वास्थ्य मेले में बच्चे को चेक करते हुए डॉक्टर।

आजादी के अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में सेठ गोविंद दास जिला चिकित्सालय में दो दिवसीय स्वास्थ्य मेला का आज समापन हुआ। जिसमें करीब 800 लोगो ने अपना रजिस्ट्रेशन करवाया। शिविर में विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा मरीजों का इलाज किया गया। साथ ही निशुल्क दवाइयों का वितरण भी किया गया।

आरएमओ पंकज ग्रोवर के मुताबिक राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत करीब 60 ऐसे बच्चों को चिन्हित किया गया है जिन्हें हृदय रोग या हाथ पैर के विकलांगता की समस्या है। ऐसे बच्चो का इलाज किया जाएगा।

दवाइयों का किया गया निशुल्क वितरण।
दवाइयों का किया गया निशुल्क वितरण।

आवश्यकता पड़ने पर ऐसे बच्चों का दिल्ली, मुंबई जैसे अस्पतालों में भी निशुल्क इलाज करवाया जाएगा। शिविर में कैंसर, हृदय, न्यूरोलॉजी, किडनी, लीवर,नाक कान गला,टीबी/छाती रोग,गेस्ट्रोइंट्रोलॉजी,अस्थि रोग,स्त्री एवं प्रसूति रोग के विशेषज्ञ चिकित्सकों द्वारा इलाज किया गया। शिविर में करीब 60 आयुष्मान कार्ड भी बनाए गए।

15 महीने की बच्ची को इलाज कराने लेकर पहुंचे माता-पिता।
15 महीने की बच्ची को इलाज कराने लेकर पहुंचे माता-पिता।

15 महीने की बच्ची के बचपन से हाथ मुड़े, इलाज के लिए चिह्नित

ब्यौहारबाग से माता-पिता अपनी 15 महीने की बच्ची को इलाज कराने लेकर आए। बच्ची जाएना फातिमा के बचपन से ही हाथ मुड़े हुए हैं। परिवार के सदस्यों के पास न ही आयुष्मान कार्ड था न ही राशन कार्ड। समग्र आईडी 2017 में बने होने के कारण इलाज कराने से परिवार वंचित थे। वही शिविर के दौरान 15 महीने की बच्ची का इलाज राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत चिन्हित कर कराया जाएगा।

रजिस्ट्रेशन कराते हुए लोग।
रजिस्ट्रेशन कराते हुए लोग।