पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वन्य जीव:भटौली व बरेला रोड पर दिखे वन्य प्राणियों के झुंड

जबलपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कौतूहल का विषय बन रहे साँभर व हिरणों का समूह

बढ़ती गर्मी के साथ जंगली एरियाें में हो रही पानी की कमी के कारण वन्य जीव शहरी इलाकों में भटककर पहुँच रहे हैं। सोमवार को जीसीएफ, ग्वारीघाट, खमरिया और बरेला रोड पर चीतल, सांभर, जंगली सुअर और अन्य तरह के वन्य प्राणियों के कई झुंड नालों और छोटे जलाशयों पर पानी पीते नजर आए। इस मामले में वन विभाग का कहना है िक शहरी क्षेत्र में जो जानवर शहरी या रहवासी एरियों में नजर आ रहे हैं, वे सभी सैन्य सीमा के आधिपत्य वाले जंगलों के हैं।

सैन्य क्षेत्रों में वन विभाग का किसी तरह का हस्तक्षेप नहीं होता। हालाँकि वन अधिकारियों का ये भी दावा है कि वन विभाग के अधिकृत जंगलों की सभी रेंजों के जलाशयों में मई के अंत का भरपूर पानी मौजूद है। इसके लिए दिसम्बर से फरवरी के बीच जंगलों के सभी जलाशयों के सुधार कार्य भी हो चुके हैं। हर रेंज में दो से तीन पहाड़ों से लगे नाले और छोटे तालाब मौजूद हैं, जहाँ वन्य प्राणियों को सुगमता से पानी मिल रहा है।
इन स्थानों पर नजर आए वन्य प्राणी
मदन महल प्रेमनगर निवासी निखिल पाघे ने बताया कि सोमवार की सुबह अपने दोस्तों के साथ साइक्लिंग के लिए ग्वारीघाट के भटौली से गौर तरफ गया था। भटौली के समीप बड़े नाले में 20-25 चीतलों का झुंड पानी पीते नजर आया। निखिल के अनुसार इसी दौरान गाड़ियों की आवाजें सुनकर चीतलों का झुंड झाड़ियों में छिप गया।

इसी तरह ललित काॅलोनी सीएमएम कंपाउंड निवासी लकी मसीह ने बताया कि सोमवार की शाम करीब 6 बजे वह अमरकंटक से लौट रहा था, इसी दौरान खमरिया स्कूल से लगे तालाब के पास उसे 10-15 जंगली सुअरों का झुंड पानी पीते हुए दिखा। इसी तरह जीसीएफ और बरेला रोड पर भी कई लोगों ने वन्य प्राणियों के झुंड नालों और छोटे जलाशयों के पास पानी की तलाश में घूमते नजर आए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- ग्रह स्थिति अनुकूल है। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और हौसले को और अधिक बढ़ाएगा। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी काबू पाने में सक्षम रहेंगे। बातचीत के माध्यम से आप अपना काम भी निकलवा लेंगे। ...

    और पढ़ें