पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना काल में बिगड़ी सरकारी स्कूलों की हालत:खण्डहर में हो रहे तब्दील, कमजोर हो गईं छतें, लगा गंदगी का अंबार, जिम्मेदार बेखबर

जबलपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शासकीय माध्यमिक शाला गोलबाजार - Dainik Bhaskar
शासकीय माध्यमिक शाला गोलबाजार
  • शासन प्रतिवर्ष करोड़ों की राशि स्कूलाें के भवनों की मरम्मत पर करता है खर्च फिर भी हालात जस के तस

छतें कमजोर पड़ गईं हैं। फर्श उधड़ चुके हैं। पानी और बिजली का भी पता नहीं है। कुछ ऐसी ही तस्वीर है शासकीय स्कूलों की..। कोरोना के बाद अब शासन के निर्देश पर इन विद्यालयों को खोल तो दिया गया है लेकिन मौके पर व्यवस्था नाम की कोई चीज समझ नहीं आ रही है, हर तरफ हाल-बेहाल हैं। स्कूलों की हालत देखकर यह सवाल भी खड़े हो रहे हैं कि इनके मेंटेनेंस के नाम पर सरकार से मिलने वाली राशि आखिर कहाँ जा रही है।

स्कूलों के रखरखाव का ध्यान रखा जाता है, समय-समय पर दिशा-निर्देश जारी किए जाते हैं।
आरपी चतुर्वेदी, डीपीसी

शासकीय माध्यमिक शाला गोलबाजार
खपरैल के इस स्कूल को देखकर मन रोने को करता है और बरबस ही ये सोच उठता है कि किस मजबूरी में विद्यार्थी यहाँ अध्ययन करते होंगे। छत पर लगी प्लास्टिक की पन्नी जगह-जगह से निकल चुकी है। फर्श उखड़ चुका है। इस पाठशाला में विद्यार्थियों की संख्या दिनों दिन कम होती जा रही है। वजह स्कूल में सुविधाओं का अभाव होना है।

शासकीय हाईस्कूल फूटाताल
स्कूल की छत पर टीन के शेड लगे हैं। ये शेड कई हिस्सों में टूट चुके हैं। जिनसे टपकते बारिश के पानी के कारण स्कूल के भीतर की दीवारें पूरी तरह शीत चुकी हैं। ये स्कूल चीख-चीखकर मरम्मत माँग रहा है। सालों से ये स्कूल रंगाई-पुताई के लिए तरस रहा है। छतों के प्लास्टर टपक रहे हैं। स्कूल में मौजूद टॉयलेट के दरवाजे खराब हो चुके हैं।

शा. राधा कन्या मा. शाला दरहाई
कन्या स्कूल होने के बाद भी विभाग का रवैया स्कूल के प्रति बेहद रूखा है। शासकीय राधा कन्या माध्यमिक शाला दरहाई में छात्राओं की संख्या तीन सैकड़ा के करीब है। यहाँ के हालात ऐसे हैं कि स्कूल की सुरक्षा ग्रिल टूट चुकी है। दरवाजे भी जर्जर हो चुके हैं। स्कूल की खिड़कियाँ, दीवारें इतनी कमजोर हो चुकी हैं कि किसी भी दिन कोई बड़ा हादसा हो सकता है।

शा. प्र. कन्या शाला खलासी लाईन
यहाँ स्कूल के बाहर मैदान में गत दिनों हुई बारिश का पानी अब तक भरा हुआ है। आसपास के लोगों ने बताया कि यहाँ नालियों की गंदगी भी मैदान में आती है। जानवरों का डेरा रहता है। अभी तो स्कूल बंद है लेकिन जब स्कूल खुले रहते हैं तब भी यहाँ के हालात ऐसे ही रहते हैं। कक्षाओं के भीतर मच्छरों के कारण छात्राएँ अध्यापन नहीं कर पाती हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आपकी सकारात्मक और संतुलित सोच द्वारा कुछ समय से चल रही परेशानियों का हल निकलेगा। आप एक नई ऊर्जा के साथ अपने कार्यों के प्रति ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। अगर किसी कोर्ट केस संबंधी कार्यवाही चल र...

    और पढ़ें