अनुकूल माहौल / सुरक्षा संस्थानों के शहर को मिले ऑटोमोबाइल हब की पहचान

City of security institutions gets identification of automobile hub
X
City of security institutions gets identification of automobile hub

  • केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को सांसद सिंह ने सौंपा माँग पत्र

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 06:06 AM IST

जबलपुर. जबलपुर में रक्षा मंत्रालय के अनुकूल माहौल होने के साथ सभी आवश्यक संसाधन मौजूद हैं, इसीलिए इसे ऑटोमोबाइल हब के रूप में विकसित किया जा सकता है। इस तरह की दलीलों के साथ सांसद राकेश सिंह ने केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से दिल्ली में भेंट की और माँग पत्र सौंपा।        
सांसद का कहना रहा कि मध्य भारत के इस प्रमुख शहर में  व्हीकल फैक्ट्री, गन कैरिज फैक्ट्री, आयुध निर्माणी, सेंट्रल ऑर्डनेंस डिपो जैसी रक्षा उत्पादन की बड़ी इकाइयाँ हैं। इनके साथ ही थल सेना के तीन बड़े रेजिमेन्ट हैं। सेना के जीओसी के अंतर्गत आने वाला मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, ओड़िसा एवं बिहार का मुख्यालय भी जबलपुर में है।  श्री सिंह ने बताया कि व्हीएफजे ने कई बड़े कीर्तिमान स्थापित किये हैं। व्हीकल फैक्ट्री देश की एकमात्र बड़ी संस्था है जो भारतीय सेना के साथ ही अर्धसैनिक बलों एवं राज्यों के आर्म्ड फोर्स को उनके उपयोग में आने वाले वाहनों का उत्पादन करती है। 9 अक्टूबर 2014 को आयोजित इन्वेस्टर्स मीट के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी अपने उद््बोधन में जबलपुर को डिफेंस क्लस्टर एवं मैन्युफैक्चरिंग हब बनाये जाने की स्वीकृति दे चुके हैं। यहाँ ऑटोमोबाइल हब बनाए जाने से प्रस्तावित रक्षा उत्पादन इकाइयों के निगमीकरण को मजबूती मिलेगी, वहीं युवाओं और कुशल कामगारों 
के लिए रोजगार के बड़े केंद्र के रूप में विकसित होगा। 

 भास्कर और गडकरी की चर्चा भी
 सांसद ने केंद्रीय मंत्री को यह भी बताया कि विगत दिनों सड़क परिवहन मंत्री  नितिन गडकरी और दैनिक भास्कर ग्रुप के साथ हुई वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग में भी जबलपुर में ऑटोमोबाइल हब बनाने को लेकर विस्तृत चर्चा हुई थी, इस दौरान श्री गडकरी ने सांसद को सलाह देते हुए कहा था कि वे इस संबंध में रक्षामंत्री से भी चर्चा करें।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना