पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Will Be Involved In The 75th Foundation Day Of JEC, Will Launch Children's Ward In Victoria And Patan

जबलपुर में CM ने कहा विश्वस्तरीय बनाएंगे जेईसी को:मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने विक्टाेरिया और पाटन में बच्चों के वार्ड का किया लोकार्पण, कहा तीसरी लहर से निपटने को हम तैयार हैं

जबलपुर25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज के 75वें स्थापना दिवस में शामिल सीएम। - Dainik Bhaskar
जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज के 75वें स्थापना दिवस में शामिल सीएम।

सीएम शिवराज सिंह चौहान बुधवार 7 जुलाई को जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज (जेईसी) के 75वें स्थापना दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। इस अवसर पर ऐतिहासिक भवन का डाक लिफाफा जारी किया। बोले कि जेईसी को विश्वस्तरीय बनाएंगे। उन्होंने आर्टिफिशयल इंटेलीजेंस (एआई) एंड डेटा साइसं और मैकेटानिक्स फैकल्टी की घोषणा की है। िवक्टोरिया जिला अस्पताल में पहुंचे सीएम ने 20 बेड का बच्चों के लिए एचडीयू (हाई डिपेंडेंसी यूनिट) का लोकापर्ण किया। सीएम बोले तीसरी लहर से निपटने की हम तैयार हैं।

जेईसी के 75वें स्थापना समारोह में पहुंचे सीएम ने कहा कि जबलपुर कई बार आना हुआ, लेकिन इस कैम्पस में पहली बार आया। मुझसे देरी जरूरी हुई, लेकिन कहावत है ना कि देर आए दुरुस्त आए। अब इस ऐतिहासिक कॉलेज को विश्वस्तरीय बनाएंगे। इसके लिए हमारी बहन और कैबिनेट की साथी तकनीकी शिक्षा मंत्री यशोधरा राजे को फ्री-हैंड कर रहा हूं कि वे अपनी कल्पनाशीलता के आधार पर इसे मूर्त रूप देंगी। जबलपुर शिक्षा का हब माना जाता था। हमारी कोशिश होगी कि इसे एजुकेशन हब के रूप में स्थापित करें।

युवाओं का किया आह्वान

सीएम शिवराज सिंह ने इस दौरान कॉलेज के पांच छात्रों से संवाद किया। कहा युवा वो है, जिसके पैरों में गति हो, सीने में आग हो, आंखों में सपने हो, मन में जुनून हो और उसके शब्दकोष में असंभव शब्द न हो। युवाओं से आह्वान किया कि बड़ा लक्ष्य तय करो। अभिनव सोचो। सरकारी नौकरी की एक सीमा है। इस कॉलेज के छात्र बड़ा सोचें। टाटा-बिडला जैसा उद्योगपति एमपी की धरती से भी निकले।

कोविड की वजह से पिछड़े पाठ्यक्रम को लेकर कमेटी गठित की है

तकनीकी शिक्षा मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया ने कहा कि कोरोना की वजह से हम पिछड़ गए है। आगे जो करना है, उसे मुख्यमंत्री की जानकारी में डाल दी है। हम इंस्टीट्यूट मैनेजमेंट कमेटी गठित कर उसके साथ काम कर रहे हैं।

इस दौरान प्रभारी मंत्री और लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव ने अपने छात्र जीवन की यादों को साझा किया। कार्यक्रम में विधायक अशोक रोहाणी, तकनीकी शिक्षा विभाग के सचिव मुकेश चंद्र गुप्ता, डायरेक्टर तकनीकी शिक्षा पीके झिंगे, डाक विभाग निदेशक एस शिवरमन, प्राचार्य डॉ.एके शर्मा, डॉ.प्रशांत जैन, डॉ.शैलजा शुक्ला, प्रो.एसएस ठाकुर मौजूद रहे।

जेईसी के इस ऐतिहासिक भवन की स्मृति में डाक लिफाफा जारी किया।
जेईसी के इस ऐतिहासिक भवन की स्मृति में डाक लिफाफा जारी किया।

मैकेटानिक्स और एआई की पढ़ाई की सीएम ने की घोषणा
जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज में दो नई विधाओं में इस वर्ष से पढ़ाई कराई जाएगी। यहां आर्टिफिशयल इंटेलीजेंस (एआई) एंड डेटा साइसं और मैकेटानिक्स में स्नातक कोर्स शुरू किए जा रहे हैं। प्रदेश में यह पहला इंजीनियरिंग कॉलेज होगा। दोनों विषयों का पाठ्क्रम चार वर्षीय होगा। ये कोर्स 60-60 सीट से शुरू किए जाएंगे। बाद में बढ़ाकर 100-100 सीट कर दिया जाएगा। सीएम दोनों विषयों की नई फैकल्टी की घोषणा की।

पहले बैच के छात्र संतोष गुप्ता को सीएम ने किया सम्मानित।
पहले बैच के छात्र संतोष गुप्ता को सीएम ने किया सम्मानित।

पहले बैच के छात्र का किया सम्मान

जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज के भूतपूर्व छात्र संगठन के संरक्षक संतोष गुप्ता (95) ने मंच से कॉलेज की गौरवशाली इतिहास की जानकारी दी। वे 1951 बैच के पास आउट है। रेलवे में मुख्य अभियंता पद से सेवानिवृत्त हुए। उन्होंने सीएम से संस्थान में रिक्त 121 शैक्षणिक पदों को भरने का अनुरोध किया।
जेईसी को विश्वविद्यालय बनाने की मांग
कार्यक्रम में वर्चुअल जुड़े एचसीएल के संस्थापक सदस्य डॉ.अजय चौधरी वर्चुअल जुड़े। उन्होंने जेईसी को विश्वविद्यालय का दर्जा देने का प्रस्ताव सीएम के समक्ष रखा। कहा कि मप्र सरकार के साथ वो नए सृजनात्मक कार्य करने में रूचि रखते हैं। सीएम ने परिसर में पौधारोपण किया और इसके बाद नवीन भवन का लोकापर्ण और टीचिंग ब्लाक निर्माण का शिलान्यास किया।
स्वर्णिम रहा है जेईसी का अतीत
7 जुलाई 1947 को जेईसी की स्थापना के समय मुम्बई व बनारस के बीच सिर्फ यही एक इंजीनियरिंग कॉलेज था। जेईसी देश का पहला संस्थान है, जिसने देश में इलेक्ट्रानिक्स और दूरसंचार अभियांत्रिकी की शिक्षा शुरू की। इसे देश में ब्रिटिश शासन द्वारा स्थापित अंतिम शैक्षिक संस्थान भी कहा जाता है। यह देश का 15वां सबसे पुराना अभियांत्रिकी संस्थान भी है।

इस कॉलेज से एचसीएल के संस्थापक डॉ. अजय चौधरी, ब्रम्होस के डायरेक्टर डॉ. सुधीर मिश्रा, पूर्व संघ चालक पी सुदर्शन, जदयू नेता शरद यादव, पूर्व मेयर विश्वनाथ दुबे, ऑर्डनेंस फैक्ट्री बोर्ड के सेवानिवृत्त चेयरमैन सुनील चौरसिया सहित कई शख्सियतें निकली हैं।
पूर्व छात्र कॉलेज के विकास में देंगे योगदान
इंजीनियरिंग कॉलेज की 75वें स्थापना दिवस के अमृत महोत्सव में शामिल पूर्व छात्रों ने मौजूदा छात्रों को कई संस्थानों से फील्ड ट्रेनिंग दिलाने की घोषणा की है। जेईसी के पूर्व छात्र एवं एचसीएल के फाउंडर डॉक्टर अजय चौधरी ने कॉलेज में जश्न हॉल का निर्माण कराने की बात कही है। ब्रह्मोस के डायरेक्टर डॉक्टर सुधीर मिश्रा ने ब्रह्मोस मिसाइल, एयरक्राफ्ट मॉडल कॉलेज में स्थापित करने की बात कही है।

विक्टोरिया में बच्चों के लिए तैया नया एचडीयू का सीएम ने किया लोकार्पण किया।
विक्टोरिया में बच्चों के लिए तैया नया एचडीयू का सीएम ने किया लोकार्पण किया।

कोरोना की तीसरी लहर से निपटने की अभी से तैयारी

सीएम ने जेईसी से विक्टोरिय जिला अस्पताल पहुंचे। यहां 20 बेड के एचडीयू वार्ड का शुभारंभ किया। सीएम ने कहा कि हम कोविड की तीसरी लहर से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं। विशेषकर बच्चों के लिए भी विशेष वार्ड बनाया जा रहा है। भगवान न करें कि बच्चे कभी संक्रमित हों। लेकिन परिस्थिति अगर निर्मित हुई तो एचडीयू वार्ड में बच्चों के भर्ती व खेलने की व्यवस्था, माताओं के रुकने की व्यवस्था और बच्चों के उपचार के हिसाब से उपकरणों की व्यवस्था की जा रही है। सीएम ने परिसर में दो करोड़ की लागत से प्रस्तावित आइसीयू के निर्माण की आधारशिला रखी।
कोविड सेवकों को सराह
डॉ. हेडगेवार स्मृति मंडल के सदस्यों की सेवा भावना की मुख्यमंत्री चौहान ने सराहना की। सदस्यों ने बताया कि वो 17 माह से कोरोना मरीजों की सहायता कर रहे हैं। पहली लहर में समिति ने विक्टोरिया में आइसीयू के सामने पंडाल लगाया जो अब भी लगा है। समिति के विजय पांडेय, लालू यादव, बंशीलाल यादव कोविड के मरीजों को सलाह देते हैं। सीएम ने उनकी सेवा को सराहा और समिति के रजिस्टर पर हस्ताक्षर भी किए।

पाटन में मातृ-शिशु ईकाई का लोकार्पण

सीएम पूर्व मंत्री अजय विश्नोई के विधानसभा क्षेत्र पाटन पहुंचे और वहां मातृ और शिशु ईकाई का लोकार्पण करने के साथ 1.80 करोड़ की लागत से बनने वाली सड़क का भूमि पूजन किया। इस दौरान एक सभा को भी संबोधित किया। इससे पहले सीएम ने शहर स्थित मानस भवन में आयोजित कार्यक्रम में जिले के शतप्रतिशत वैक्सीनेटेड ग्राम पंचायतों के प्रतिनिधियों को सम्मानित किया। वहीं कोरोना से मृत सात शासकीय कर्मियों के आश्रितों को अनुकंपा नियुक्ति पत्र भी प्रदान किया। सभी कार्यक्रम में प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव शामिल रहे।

युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करती पुलिस।
युवक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार करती पुलिस।

सीएम के आगमन से पहले दबोचे गए युवक कांग्रेस के कार्यकर्ता
इसके पहले मुख्यमंत्री के आने का विरोध युवक कांग्रेस ने किया। कांग्रेस कार्यकर्ता काले झंडे लेकर कार्यक्रम स्थल की तरफ बढ़ने लगे। पुलिस ने वीकल मोड़ पर कार्यकर्ताओं को रोक लिया। कार्यकर्ता जब नहीं माने तो पुलिस ने पहले लाठी भांजी और बाद में एक दर्जन कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है। कार्यकर्ताओं का आरोप था कि सीएम काेरोना नियंत्रण करने में फेल रहे हैं।

खबरें और भी हैं...