डेंगू से मौत पर मिले मुआवजा:हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर, जिला स्तर पर एक्सपर्ट कमेटी गठित की जाए

जबलपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एमपी में डेंगू के बढ़ते मामले को लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका लगी। - Dainik Bhaskar
एमपी में डेंगू के बढ़ते मामले को लेकर हाईकोर्ट में जनहित याचिका लगी।

कोविड के बढ़ते मामलों के बीच डेंगू के डंक से पूरा प्रदेश परेशान है। जबलपुर में एसआई सहित कई लोगों की मौत हो चुकी है। अब ये प्रकरण हाईकोर्ट में भी पहुंच गया। नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच की ओर से एक जनहित याचिका सोमवार 13 सितंबर को दायर की गई। याचिका के माध्यम से डेंगू से होने वाली मौत पर मुआवजा और इसे नियंत्रण करने में असफल लोगों से मुआवजा वसूलने की मांग की गई।

नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच के अध्यक्ष डॉ. पीजी नाजपांडे ओर रजत भार्गव ने हाईकोर्ट की जबलपुर मुख्यपीठ में ये जनहित याचिका लगाई है। याचिका में बताया कि जबलपुर सहित प्रदेश भर में डेंगू के मामले बढ़ रहे हैं। जबलपुर में डेंगू फैलने की एक बड़ी वजह आबादी के बीच में संचालित डेयरियों को बताया गया है। वहीं डेंगू नियंत्रण के लिए जरूरी नियमों का पालन न करने वाली संस्थाओं, अधिकारियों से मुआवजा वसूल कर दंडित करने की मांग की गई है। डेंगू बीमारी फैलने के समय काल में नियंत्रण कार्य से जुड़े मेडिकल, पैरा मेडिकल, सफाई सहित अन्य कर्मचारियों की हड़तालों पर भी रोक लगाने की बात कही गई है।

राज्य सरकार डेंगू नियंत्रण में पूरी तरह फेल

याचिका में बताया गया कि जबलपुर सहित एमपी में डेंगू बीमारी ने विकराल रूप धारण किया है। ऐसे समय में हमेशा के उपायों के साथ ही विशेष नियंत्रण उपाय लागू करना जरूरी है। बीमारी रोकने के बीमारी रोकने के वर्तमान कानूनी नियमों के अलावा सख्त, अल्प समयावधि के विशेष नियमों को लागू करना चाहिए था, पर राज्य सरकार पूरी तरह से फेल हो गई है।

एक्सपर्ट कमेटी बने

याचिकाकर्ता की ओर से अधिवक्ता प्रभात यादव ने बताया कि याचिका में यह भी प्रार्थना की गई है कि इन विशेष परिस्थितियों में हर जिला स्तर पर एक एक्सपर्ट कमेटी का गठन किया जाए। नगरों में बनी वार्ड कमेटियां, मोहल्ला कमेटियों को भी इस बीमारी के नियंत्रण कार्य में शामिल किया जाए। याचिका में आरोप लगाया गया है कि एमपी के शहरों में जगह-जगह जल भरा है। जबलपुर में सीवर लाइन के गड्‌ढों, नालों में जमे पानी के फोटोग्राफ प्रस्तूत किए गए हैं।

खबरें और भी हैं...