पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नगर निगम के 79 वार्डों का आरक्षण:कांग्रेस का हंगामा आरोप लगाया कि इस बार रोटेशन का नहीं हुआ पालन

जबलपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरक्षण प्रक्रिया के दौरान नारेबाजी करते कांग्रेसी। - Dainik Bhaskar
आरक्षण प्रक्रिया के दौरान नारेबाजी करते कांग्रेसी।
  • 44 सामान्य वार्डों में से 22 महिला, 20 ओबीसी में 10 महिला, 11 एससी में 6 महिला, 4 एसटी में 2 महिला वार्ड आरक्षित

नगर निगम के 79 वार्डों के आरक्षण को लेकर बुधवार को मानस भवन में उस समय हंगामे की स्थिति निर्मित हो गई, जब कांग्रेस के कुछ पूर्व पार्षदों और नेताओं ने रोटेशन का पालन न करने का आरोप अधिकारियों पर लगाया। इस दौरान अधिकारियों द्वारा कई बार समझाइश दी गई, लेकिन वे यह कहते रहे कि नियमों की गलत व्याख्या कर आरक्षण की प्रक्रिया को ठीक ठंग से लागू नहीं किया जा रहा है।

यह हंगामा उस समय हुआ जब सामान्य वर्ग के वार्डों का आरक्षण चल रहा था, इस दौरान आपत्तियाँ भी दी गईं, जिनका निराकरण किया गया। लेकिन इसके बाद भी नेता संतुष्ट नहीं हुए और मनमर्जी का आरोप लगाते रहे। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा और निगमायुक्त अनूप कुमार सिंह की उपस्थिति में सभी वार्डों का आरक्षण किया गया। इसमें अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग एवं महिलाओं के लिये लॉटरी निकालकर आरक्षण की प्रक्रिया पूरी की गई।

इन वार्डों में नहीं हुआ रोटेशन का पालन - नगर कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश यादव, पूर्व नेता प्रतिपक्ष राजेश सोनकर, पूर्व पार्षद संजय राठौर सहित अन्य नेताओं ने आरोप लगाया कि 11 वार्ड ऐसे हैं, जिनमें पहले भी महिलाएँ थीं और इस बार पुन: महिला वर्ग के लिए आरक्षित किया गया है। इसमें रोटेशन का पालन नहीं किया गया है। इनमें गढ़ा, गुप्तेश्वर, नरसिंह वार्ड, रानी दुर्गावती, कमला नेहरू, कस्तूरबा गांधी, स्वामी विवेकानंद, स्वामी दयानंद सरस्वती, ठक्करग्राम, चंद्रशेखर आजाद, गुरुगोविंद सिंह वार्ड शामिल हैं।
कलेक्टर ने आपत्तियों का किया निराकरण - कलेक्टर ने सामने आई आपत्तियों का मौके पर ही निराकरण किया। उन्होंने नगर पालिका अधिनियम की पुस्तक सामने रखते हुए सभी को नियमों से अवगत कराया।

श्रेणियों के आधार पर इस तरह हुआ आरक्षण
अनुसूचित जाति -
इस श्रेणी में कुल 12 वार्ड आरक्षित हैं, इनमें से महिला वर्ग के लिए महर्षि अरविंद, सर्वपल्ली राधाकृष्णन, रानी लक्ष्मीबाई, सिद्धबाबा, डॉ. राममनोहर लोहिया, दादा बाबूराव परांजपे सहित कुल 6 वार्ड आरक्षित किए गए हैं। वहीं इसी श्रेणी में आचार्य विनोबा भावे, पं. मदनमोहन मालवीय, महर्षि बाल्मीकि, डॉ. भीमराव अम्बेडकर, शहीद भगत सिंह सहित कुल 5 वार्ड अनारक्षित रखे गए हैं।

अनुसूचित जनजाति - इस श्रेणी में कुल 4 वार्ड आरक्षित हैं। इनमें महिला वर्ग के लिए कुल 2 वार्ड शहीद विरसामुंडा, लाला लाजपत राय वार्ड आरक्षित हैं, वहीं 2 अन्य वार्ड महर्षि सुदर्शन तथा संत रविदास वार्ड अनारक्षित रखे गए हैं।
अन्य पिछड़ा वर्ग - इस श्रेणी में कुल 20 वार्ड हैं। इनमें से 10 वार्ड महिला वर्ग के लिए आरक्षित हैं, जिनमें गढ़ा, महर्षि महेश योगी, वीरांगना रानी अवंतीबाई, चेरीताल, गुप्तेश्वर, वीर दुर्गादास राठौर, रानी दुर्गावती, कस्तूरबा गांधी, मौलाना अबुल कलाम आजाद, हनुमानताल वार्ड शामिल हैं। इस वर्ग में बाकी के 10 वार्ड अनारक्षित हैं। इनमें पं. मोतीलाल नेहरू, एपीजे अब्दुल कलाम, सरदार वल्लभ भाई पटेल, स्वामी वीरेन्द्रपुरी, पं. जवाहरलाल नेहरू, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, जयप्रकाश नारायण, त्रिपुरी, शहीद अशफाक उल्ला खाँ, सुभाष चंद्र बैनर्जी वार्ड शामिल हैं।

अनारक्षित महिला - अनारक्षित महिला की श्रेणी में 22 वार्ड रखे गए हैं, इनमें पं. बनारसी दास भनोत, नरसिंह, कमला नेहरू, स्वामी विवेकानंद, पं. दीनदयाल उपाध्याय, स्वामी दयानंद सरस्वती, ठक्करग्राम, निर्मलचंद जैन, चंद्रशेखर आजाद, दादा ठनठनपाल, गुरु गोविंद सिंह, शंकर शाह नगर, इंदिरा गांधी, वीर सावरकर, जार्ज डिसिल्वा, मदन महल, जवाहरगंज, महात्मा गांधी, राजीव गांधी, संजय गांधी, गोकलपुर, ईश्वरदास रोहाणी वार्ड शामिल हैं।

अनारक्षित -इस श्रेणी में भी 22 वार्ड रखे गए हैं। इनमें शहीद गुलाब सिंह, लोक बालगंगाधर तिलक, गोविंद वल्लभ पंत, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी, शीतलामाई, पं. द्वारका प्रसाद मिश्र, सेठ गोविंददास, लाल बहादुर शास्त्री, दीवान आधार सिंह, ग्वारीघाट, गिरिराज किशोर कपूर, महाराणा प्रताप, सुभद्रा कुमारी चौहान, पं. भवानी प्रसाद तिवारी, महाराजा अग्रसेन, चितरंजनदास, डॉ. जाकिर हुसैन, नेताजी सुभाषचंद्र बोस, रविन्द्रनाथ टैगोर, खेरमाई, शहीद अब्दुल हमीद, भगवान परसुराम वार्ड शामिल हैं।पी-2

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें