• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • The Matter Reached BCI, After The Current President Dr. Vijay Kumar Chaudhary, Shailendra Verma Of Jabalpur Claimed Majority

स्टेट बार में दो-दो अध्यक्षों का विवाद:बीसीआई पहुंचा मामला, मौजूदा अध्यक्ष डॉ. विजय कुमार चौधरी के बाद जबलपुर के शैलेंद्र वर्मा ने बहुमत का किया दावा

जबलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मप्र राज्य अधिवक्ता परिषद। - Dainik Bhaskar
मप्र राज्य अधिवक्ता परिषद।

मप्र स्टेट बार काउंसिल में दो-दो अध्यक्षों का विवाद अब बीसीआई के पाले में चला गया है। मौजूदा अध्यक्ष डॉ. विजय कुमार चौधरी के बाद जबलपुर के शैलेंद्र वर्मा भी खुद के बहुमत का दावा कर रहे थे।

मप्र राज्य अधिवक्ता परिषद में 2 अध्यक्षो को लेकर जारी विवाद और गतिरोध की स्थिति को लेकर परिषद के प्रवक्ता एवं सदस्य राधेलाल गुप्ता ने भारत में अधिवक्ताओं की सर्वोच्च संस्था बार कौंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष तथा सचिव को पत्र भेजकर विवाद को सुलझाने का आग्रह किया है।

12 दिसंबर की बैठक में निर्वाचित हो गए दो-दो अध्यक्ष

इस पत्र में कहा है कि 12 दिसंबर 21 को मप्र राज्य अधिवक्ता परिषद की सामान्य सभा में 2-2 अध्यक्ष निर्वाचित होने के कारण असमंजस की स्थिति निर्मित हो रही है। इस संबंध में जहां एक ओर भोपाल के डॉ. विजय कुमार चौधरी अपने अध्यक्ष पद पर बहुमत का दावा कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर जबलपुर के शैलेंद्र वर्मा भी अपने अध्यक्ष पद पर बहुमत का दावा करते हुए अध्यक्ष की आसंदी पर आसीन हो गये हैं।

निवर्तमान अध्यक्ष डॉ. विजय कुमार चौधरी।
निवर्तमान अध्यक्ष डॉ. विजय कुमार चौधरी।

अधिकारी-कर्मचारी दुविधा में किस अध्यक्ष के आदेश का करें पालन

इससे अधिकारी एवं कर्मचारी दुविधा में है कि वे किस अध्यक्ष के आदेश का पालन करें। परिषद के प्रवक्ता गुप्ता ने इस बात की ओर भी ध्यान आकर्षित कराया है कि म.प्र. राज्य अधिवक्ता परिषद एक सांविधिक निकाय है जो कि अधिवक्ताओं के कल्याणकारी कार्यों का दायित्व संभालती है। ऐसी स्थिति में अधिवक्ताओं से संबंधित आवश्यक रोजमर्रा के कार्य बाधित हो गए हैं और वित्तीय कार्य भी रुके हुए हैं। इसके कारण जरूरतमंद प्रदेश के अधिवक्ताओं को समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

बार काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष व सचिव को लिखा पत्र

गुप्ता ने बार काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष व सचिव तथा प्रतिनिधि प्रताप मेहता को पत्र भेजकर अनुरोध किया है कि बार काउंसिल ऑफ इंडिया का प्राथमिक दायित्व बनता है कि म.प्र.राज्य अधिवक्ता परिषद में चल रहे 2 अध्यक्ष पद के कारण निर्मित स्थिति पर हस्तक्षेप कर तत्काल ही उचित कार्यवाही करें।

इधर, स्टेट बार काउंसिल के अध्यक्ष वर्मा ने नवागत अधिवक्ताओं के पंजीयन पर लगाई मोहर

मप्र राज्य अधिवक्ता परिषद द्वारा नए अधिवक्ता नामांकित करने हेतु नामांकन समिति की बैठक आयोजित की गई। इसमें मप्र राज्य अधिवक्ता परिषद के अध्यक्ष शैलेंद्र वर्मा द्वारा 250 नये अधिवक्ताओं को नामांकित किया और 3 अधिवक्ताओं का रिजम्पशन कर सनद बहाल की।

खबरें और भी हैं...