• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • The Team Of EOW Jabalpur Raided The House Of The Coordinating Officer Posted In Khairlanji Balaghat, 33 Years Ago With The Village Assistant

समन्वय अधिकारी निकला करोड़पति:EOW जबलपुर की टीम ने खैरलांजी बालाघाट में पदस्थ समन्वय अधिकारी के घर मारी रेड, ढाई लाख नकदी सहित दो किलो सोने-चांदी के जेवर जब्त

जबलपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
समन्वय अधिकारी रमेश पटले सफेद बनियान में और पीले कपड़े में पत्नी लक्ष्मी पटले। - Dainik Bhaskar
समन्वय अधिकारी रमेश पटले सफेद बनियान में और पीले कपड़े में पत्नी लक्ष्मी पटले।

राज्य आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ (EOW) जबलपुर की टीम ने गुरुवार तड़के खैरलांजी बालाघाट में पदस्थ समन्वय अधिकारी के वारासिवनी स्थित घर में दबिश दी। प्रारंभिक जांच में आरोपी की 1.23 करोड़ की संपत्ति मिली है, जो उसकी कुल बचत 35 लाख की तुलना में तीन गुना से अधिक है। टीम की सर्चिंग कार्रवाई में ढाई लाख नकदी सहित दो किलो सोने व चांदी के जेवर जब्त हुए।

एसपी ईओडब्ल्यू देवेंद्र सिंह राजपूत के मुताबिक गंगोत्री कॉलोनी वारासिवनी बालाघाट निवासी रमेश कुमार पटले वर्तमान में जनपद पंचायत खैरलांजी बालाघाट में समन्वय अधिकारी है। उसके खिलाफ आय से अधिक संपत्ति होने की शिकायत लंबित थी। प्रकरण में टीआई प्रेरणा पांडे को जांच मिली थी। प्रारंभिक जांच में ही उसकी संपत्ति एक करोड़ से अधिक मिली। इसके बाद आरोपी के घर गुरुवार तड़के डीएसपी मनजीत सिंह और टीआई प्रेरणा पांडे की अगुवाई में दबिश दी गई।

वारासिवनी गंगोत्री कॉलोनी में आरोपी का 2400 वर्गफीट में बना डबल मंजिल घर।
वारासिवनी गंगोत्री कॉलोनी में आरोपी का 2400 वर्गफीट में बना डबल मंजिल घर।

पटले दंपती बनाए गए आरोपी

ईओडब्ल्यू ने मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और साजिश रचने का प्रकरण करते हुए रमेश कुमार पटले और उसकी पत्नी लक्ष्मी पटले को आरोपी बनाया है। पटले दंपती की काली कमाई की जांच करने डीएसपी मनजीत सिंह की अगुवाई में टीम ने गुरुवार चार बजे दबिश दी। परिवार के लोगों को सर्चिंग वारंट दिखाते हुए टीम ने परिवार के सभी सदस्यों का मोबाइल कब्जे में ले लिया। इसके बाद सर्चिंग की कार्रवाई शुरू की, जो शाम तक जारी रहा।

आरोपी ने 33 साल की नौकरी में अकूत संपत्ति बनाई है।
आरोपी ने 33 साल की नौकरी में अकूत संपत्ति बनाई है।

33 साल पहले ग्राम सहायक से शुरू की थी नौकरी

डीएसपी मनजीत सिंह के मुताबिक रमेश पटले तहसील वारासिवनी बालाघाट के अंतर्गत 12 अप्रैल 1988 को ग्राम सहायक के पद पर नियुक्त हुए थे। वर्तमान में रमेश पटले पदोन्नत होकर समन्वयक अधिकारी जनपद पंचायत खैरलांजी बालाघाट में पदस्थ हैं। रमेश पटले ने नौकरी अवधि में वेतन आदि से कुल 35 लाख रुपए की बचत की है। इसके विरूद्ध उनकी संपत्ति प्रारंभिक जांच में एक करोड़ 23 लाख की मिली है।

ईओडब्ल्यू के प्रारंभिक जांच में ये संपत्ति मिली-

  • वारासिवनी में गंगोत्री कॉलोनी में 2400 वर्गफीट में बना मकान
  • वारासिवनी में ही गंगोत्री कॉलोनी में पत्नी के नाम पर 2400 वर्गफीट में बना व्यवसायिक कॉम्प्लेक्स
  • वारासिवनी में गंगोत्री कॉलानी में पत्नी के नाम पर 2400 वर्गफीट का एक प्लाट
  • वारासिवनी में गंगोत्री कॉलोनी में पत्नी के नाम पर 2880 वर्गफीट का एक प्लाट
  • वारासिवनी के ग्राम गर्रा में 1500 वर्गफीट का प्लाट
  • वारासिवनी में 0.22 हेक्टेयर का प्लाट
  • बाइक एमपी 50 एमआर 6714
  • एसबीआई लाइफ में 6.92 लाख रुपए का निवेश
  • सहारा इंडिया में 8.65 लाख का निवेश
2400 वर्गफीट में व्यवसायिक कॉम्प्लेक्स भी बना रखा है।
2400 वर्गफीट में व्यवसायिक कॉम्प्लेक्स भी बना रखा है।

सर्चिंग कार्रवाई में नकदी सहित 500 ग्राम सोने का और डेढ़ किलो चांदी के जेवर जब्त

आरोपी के घर पर डीएसपी मनजीत सिंह की अगुवाई में निरीक्षक प्रेरणा पांडे सहित अन्य की टीम सर्चिंग की कार्रवाई में जुटी रही। आरोपी के घर से नकदी सहित जेवर आदि भी मिले है। एसपी ईओडब्ल्यू देवेंद्र सिंह राजपूत के मुताबिक शाम तक चले सर्चिंग की कार्रवाई में दो और दुपहिया सहित बैंक के 10 खाते आदि और जब्त हुए हैं।

सर्चिंग में ये मिला-

  • 2.50 लाख रुपए नकद
  • 500 ग्राम सोने के जेवर
  • लगभग 1.50 किलो चांदी के जेवर
  • ​​​​​​​दो जमीन की रजिस्ट्री विक्रय पत्र लगभग 04 लाख रुपए
  • 15.60 लाख रुपए एलआईसी सहित अन्य में निवेश अन्य की गणना की जा रही है
  • 10 बैंक खाता इसमें जमा राशि की जानकारी प्राप्त की जा रही है
  • 01 जुपिटर स्कूटर और 01 एक्टिवा स्कूटर