पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

घातक है नई लहर:शहर में अब तक 42 हजार से अधिक लोगों को बीमार कर चुका है कोरोना

जबलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 5737 एक्टिव केस, सरकारी रिकाॅर्ड में बीते 24 घण्टे में 7 लोगों की मौत

शहर में कोरोना वायरस ने जबसे अपने पैर पसारे हैं, तबसे लेकर अब तक 42 हजार 507 लोगों को वह अपना शिकार बना चुका है। शुक्रवार को इसकी संख्या 42 हजार के पार पहुँच गई। जो हर दिन मरीज संख्या सामने आ रही है उससे लगता है कि यह संख्या जल्द ही 50 हजार तक पहुँचने वाली है। नई लहर एकदम जानलेवा साबित हो रही है और इससे बच पाना हर शहरी के लिए बड़ी चुनौती साबित हो रहा है।

शुक्रवार को इस वायरस की वजह से 825 नये मरीज सामने आए, वहीं 829 लोग अस्पतालों से इलाज के बाद डिस्चार्ज किए गए। इस संक्रमण से ग्रसित होने के बाद हालत बिगड़ी और बीते 24 घंटे में 7 लोगों की मौत हुई। वैसे सच्चाई यही है कि मौके पर हेल्थ बुलेटिन में जारी आँकड़ों से अलग हालात हैं। अभी शहर में कोरोना के 5737 एक्टिव केस हैं, जिनमें 3374 मरीज होम आइसोलेशन में इलाज करा रहे हैं।
प्रोटोकॉल से 54 अंतिम संस्कार
प्रोटोकॉल के तहत शुक्रवार को शहर में 54 अंतिम संस्कार किए गए। चिन्हित मुक्तिधामों में मोक्ष और नगर निगम ने ये फ्यूनल किए। बीते दिन के मुकाबले यह संख्या कम है इससे कुछ राहत महसूस की जा सकती है। कोविड गाइडलाइन के तहत किए गए अंतिम संस्कार में एक ऐसी महिला का शव भी शामिल है, जिसका शव बीते 48 घण्टे से मेडिकल में रखा रहा। इस महिला का पति मौत के बाद शव को छोड़कर भाग गया, जिसका अंतिम संस्कार मोक्ष ने किया।
माँगें पूरी, काम पर लौटे जूडॉ
प्रदेश में जूनियर डाक्टरों की 6 माँगों में से 5 पूरी होने पर मेडिकल कॉलेजों में जूडॉ ने प्रदर्शन बंद कर दिया है। जूडॉ के डॉ. पंकज सिंह के अनुसार उनकी माँगें पूरी होने पर पूरी मुस्तैदी के साथ सभी जूडॉ अपनी सेवाएँ देंगे। मरीजों के हित के लिए कोविड काल में पूरी मेहनत से इलाज किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...