बांधवगढ़ में बाघिन को फंदे में फंसाकर मारा:बोरे में शव भरकर पत्थर से बांधा, फिर कुएं में फेंका; 9 शावकों को जन्म देने वाली बाघिन की मौत मामले में केस दर्ज

उमरियाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कुएं में 14 साल की बाघिन का शव मिला। - Dainik Bhaskar
कुएं में 14 साल की बाघिन का शव मिला।

बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के मानपुर रेंज के दमना बीट में 14 साल की बाघिन के शिकार का मामला सामने आया है। बाघिन टी-32 की मौत गले में फंदा कसने से हुई है। शव को बोरे में भरकर पत्थर बांधकर बांसा गांव के पास कुएं में फेंका गया है। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व प्रबंधन को सोमवार को इसकी जानकारी मिली थी। टाइगर स्क्वॉड की मदद से जांच की जा रही है। यहां 27 अगस्त को भी एक बाघिन की मौत हो गई थी।

बाघिन टी-32 ने 2011, 2013 और 2015 में 9 शावकों को जन्म दिया था। स्थानीय लोग इसे आमानाला वाली बाघिन कहते हैं। बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर रहीम ने बताया कि बाघिन की मौत के मामले में केस दर्ज कर जांच की जा रही है।

बांधवगढ़ में इस साल हुई बाघों की मौत

  • 18 जनवरी को एक शावक के कारण बाघ का हमला।
  • 14 फरवरी को 4 साल की बाघिन की मौत का कारण आपसी संघर्ष।
  • 30 मार्च को 13 साल की बाघिन की मौत का कारण आपसी संघर्ष।
  • 12 अप्रैल को 10 साल के बाघ की मौत का कारण अब तक अज्ञात।
  • 14 मई को एक बाघ की मौत हुई, उसकी पहचान तक नहीं हुई।
  • 16 अगस्त को 6 माह की बाघिन शावक की मौत का कारण आपसी संघर्ष।
  • 27 अगस्त को 8 साल की बाघिन की मौत धमोखर रेंज में।
  • 30 अगस्त को 14 साल की बाघिन की मौत मानपुर के दमना बीट में।
खबरें और भी हैं...