सख्ती / शिक्षा विभाग ने जारी किया दिवंगत शिक्षक का वेतन रोकने का आदेश

X

  • केन्द्रीयकृत मूल्यांकन से गैर हाजिर होने पर 88 शिक्षकों पर कार्रवाई

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

जबलपुर. शिक्षा विभाग ने 12वीं बोर्ड परीक्षा के केन्द्रीयकृत मूल्यांकन से गैर हाजिर रहने वाले 88 शिक्षकों का वेतन रोकने का आदेश दिया है। चौंकाने वाली बात यह है कि इस आदेश में शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल पोला मझौली के एक दिवंगत शिक्षक इरफान खान का भी नाम शामिल है, जिनका लॉकडाउन के दौरान निधन हो गया था। प्राप्त जानकारी के अनुसार एमएलबी स्कूल में 22 जून से 12वीं बोर्ड की उत्तरपुस्तिकाओं का केन्द्रीयकृत मूल्यांकन शुरू किया गया था। केन्द्रीयकृत मूल्यांकन में 270 शिक्षकों को बुलाया गया था, मलेकिन नोटिस जारी होने के बाद भी 88 शिक्षक मूल्यांकन के लिए नहीं पहुँचे। जिला शिक्षा अधिकारी सुनील नेमा का कहना है कि मूल्यांकन के लिए शिक्षकों की सूची दिसम्बर में तैयार की गई थी। शिक्षक का निधन अप्रैल माह में हुआ। इसकी वजह से दिवंगत शिक्षक का नाम सूची से नहीं हटाया जा सका। 

13 हजार उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन शेष 
एमएलबी स्कूल में 30 जून तक 29 हजार 651 उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन पूरा किया जा चुका है। अब लगभग 13 हजार उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन शेष है। जल्द ही मूल्यांकन का काम पूरा कर लिया जाएगा। 
शिक्षक भर्ती के दस्तावेजों का सत्यापन आज से

उच्च माध्यमिक शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों के दस्तावेजों का सत्यापन 1 जुलाई को सुबह 10 बजे से  किया जाएगा। संयुक्त संचालक लोकशिक्षण द्वारा उनके कार्यालय और जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा एमएलबी स्कूल में दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए अभ्यर्थियों को अलग-अलग समय पर बुलाया गया है। 
ई-केवायसी नहीं कराने वाले शिक्षकों का वेतन रोकने के निर्देश

ई-केवायसी नहीं कराने वाले शिक्षकों का वेतन रोकने के निर्देश दिए गए हैं। डीईओ की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि प्राथमिक, माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षकों द्वारा बार-बार निर्देश दिए जाने के बाद भी ई-केवायसी नहीं कराई जा रही है। ऐसे शिक्षकों का वेतन रोका जाए। पी-2 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना