• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Big Examination Of Police administration In Jabalpur, Mufti e Azam Appealed To Celebrate The Festival In The House And Locality As Per The Guidelines Of The Government

ईद मिलाद-उन-नबी आज:जबलपुर में पुलिस-प्रशासन की बड़ी परीक्षा, मुफ्ती-ए-आजम ने शासन की गाइडलाइन के अनुसार त्यौहार घर-मोहल्ले में मनाने की अपील की

जबलपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ईद मिलाद-उन-नबी को लेकर शहर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम। - Dainik Bhaskar
ईद मिलाद-उन-नबी को लेकर शहर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम।

ईद मिलाद-उन-नबी का त्यौहार आज मंगलवार 19 अक्टूबर को मनाया जा रहा है। जबलपुर में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। मंगलवार को पुलिस-प्रशासन की बड़ी परीक्षा है। शासन की गाइडलाइन के अनुसार त्यौहार घर और मोहल्ले में मनाने की अपील मुफ्ती-ए-आजम मध्यप्रदेश मौलाना हजरत मोहम्मद हामिद अहमद सिद्दीकी ने की है। वहीं समाज के कुछ युवा इसे वर्ल्ड पीस डे के रूप में मना रहे हैं। सुबह से शहर में सुरक्षा बल तैनात कर दिए गए हैं।

मुफ्ती-ए-आजम ने शहर और प्रदेशवासियों को मिलाद-उन-नबी की दिली मुबारकबाद देते हुए कहा है कि कोरोना संक्रमण में आई कमी को देखते हुए इस बार त्यौहारों को मनाने के लिये पिछले वर्ष के मुकाबले कुछ ज्यादा छूटें मिली हैं। इन छूटों को ध्यान में रखकर ही हमें ईद मिलाद-उन-नबी का त्यौहार मनाना होगा। हम इस त्यौहार को पूरे उत्साह के साथ अपने घर और मोहल्ले में मनाएंगे। अकीदत और मुहब्बत का इजहार करें। एक दूसरे को मुबारकबाद दें, लेकिन कहीं भी जुलूस की शक्ल में न निकलें।

मुफ्ती-ए-आजम मौलाना मोहम्मद हामिद अहमद ने दी ईद मिलाद-उन-नबी की बधाई।
मुफ्ती-ए-आजम मौलाना मोहम्मद हामिद अहमद ने दी ईद मिलाद-उन-नबी की बधाई।

मुफ्ती-ए-आजम मौलाना मोहम्मद हामिद अहमद ने कोरोना संक्रमण में लगातार आ रही कमी को देखते हुये आशा व्यक्त की है कि यही स्थिति रही तो अगले साल हम मिलाद-उन-नबी का त्यौहार उसी जोश और जज्बे से मनाएंगे, जैसे कोरोना की पाबंदियां लगने के पहले मनाया करते थे। उन्होंने कोरोना वायरस की बीमारी से देश को पूरी तरह निजात दिलाने की दुआ करने का आग्रह भी मुस्लिम समाज के लोगों से किया है।

उधर, युवा वर्ल्ड पीस-डे के रूप में मना रहे

इस्लाम धर्म के पैगंबर हजरत मोहम्मद के जन्मदिन ईद मिलाद-उन-नबी को कुछ मुस्लिसम समाजसेवियों ने वर्ल्ड पीस डे के रूप में मनाने की तैयारी की है। वे इस अवसर पर सोशल सेवा के तहत शहर वरिष्ठ प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों, सांसद व विधायकों को गुलदस्ता भेंट करते हुए वर्ल्ड पीस-डे की बधाई देंगे। इसी के साथ पैगंबर साहब की जीवनी की पुस्तक भेंट करेंगे।

अनोखे अंदाज में मनाएंगे ईद मिलादुन्नबी

मुस्लिम नव जवान कमेटी के फहीम खान, सादिक खान, सलीम खान बून, रफीक खान, एडवोकेट मो. अल्तमस, नसीम अंसारी, एड मो. मकबूल, साजिद अली, मकसूद अंसारी, मिर्जा शाहिद बेग, मुबारक अली कादरी, डॉक्टर मो. आरिफ आदि ने बताया कि मिलादुन्नबी के मौके पर ऑल इंडिया मुस्लिम त्यौहार कमेटी के आह्वान पर प्रदेश में जश्न-ए-ईद मिलादुन्नबी का पर्व वर्ल्ड-पीस-डे के रूप में अनोखे अंदाज में मनाया जा रहा है। देश में भ्रष्टाचार, सांप्रदायिकता, आतंकवाद और अश्लीलता को समाप्त करने के साथ ही मुल्क की तरक्की और अमन के लिए इज्तिमाई दुआ की गई।

पैगम्बर के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है ये त्यौहार।
पैगम्बर के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है ये त्यौहार।

पैगम्बर के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है

ईद-ए-मिलाद के रूप में जाना जाने वाला, मिलाद-उन-नबी पैगम्बर मुहम्मद के जन्मदिन के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। यह उत्सव मुहम्मद के जीवन और उनकी शिक्षाओं की भी याद दिलाता है। मिलाद-उन-नबी इस्लामी पंचांग के तीसरे महीने रबी-उल-अव्वल के 12वें दिन मनाया जाता है। मुहम्मद का जन्म वर्ष 570 में सऊदी अरब में हुआ था।

सुरक्षा के सख्त इंतजाम

उधर, पुलिस प्रशासन ने भी सुरक्षा के कड़े प्रबंधन किए हैं। सभी थाना प्रभारियों को अपने-अपने क्षेत्र में शांतिपूर्ण तरीके से त्यौहार संपंन्न करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। मंगलवार सुबह 4 बजे से ही पुलिस बल तैनात कर दिया जाएगा। सुबह 6 बजे नमाज होती है। वहीं दोपहर बाद वे उत्साह के साथ त्यौहार को मनाएंगे। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने ईद-मिलाद-उन-नबी की बधाई देते हुए शासन के निर्देशानुसार घर, गली व मोहल्लों में मनाने की अपील की हे। किसी भी प्रकार के जुलूस की अनुमति नहीं दी गई है।

फ्लैग मार्च के दौरान पूरे शहर के संवेदनशील स्थलों में पुलिस अधिकारी घूमे।
फ्लैग मार्च के दौरान पूरे शहर के संवेदनशील स्थलों में पुलिस अधिकारी घूमे।

18 अक्टूबर की रात 9.15 बजे पुलिस कंट्रोल रूम से शहर के संवेदनशील क्षेत्रों में फ्लैग मार्च किया गया। सदर की गलियों में फ्लैग मार्च किया। एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने कहा कि फ्लैग मार्च का उद्देश्य आम लोगों को सुरक्षा का अहसास कराना था।

खबरें और भी हैं...