पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

यात्रियों के लिए बेहतर सुविधाएं:स्टेशन के स्काई लाउंज कैफे में कॉफी-लजीज भोजन का मजा गेम जोन, फिल्में भी देखिए

जबलपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नया साल मुख्य रेलवे स्टेशन पर आने वाले यात्रियों के लिए बेहतर सुविधाओं के साथ खाने-पीने और मनोरंजन की नईं खुशियाँ लेकर आया है क्योंकि जबलपुर रेल मंडल द्वारा आने वाले दिनों में स्टेशन के बाहर सर्कुलेटिंग एरिया में जहाँ स्काई लाउंज कैफे खोलने की तैयारी की जा रही है, वहीं चाय-कॉफी के साथ स्नैक्स और लजीज भोजन की सुविधा भी यात्रियों को मिलेगी साथ ही यात्रियों का मन बहलाने के लिए गेम जोन खोला जा रहा है।

सबसे नई सुविधा यात्रियों को ओपन थिएटर के रूप में मिलेगी, जहाँ वे मनपसंद फिल्मों का आनंद ले सकेंगे। इनके अलावा मुख्य रेलवे स्टेशन के बाहर शॉपिंग करने के लिए ब्रांड जोन, री-क्रिएशन जोन, री-फ्रेशमेंट स्टॉल के साथ अन्य मनोरंजन गतिविधियों की भी सौगात यात्रियों को देने की तैयारी की जा रही है। इन मॉडर्न फैसिलिटीज को उपलब्ध कराने के बदले में रेलवे को करोड़ों रुपए की आय हासिल होगी।

मिशन इनकम पर जोर, एयरपोर्ट की तर्ज पर डेवलपमेंट- रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार जबलपुर रेल मंडल के मुख्यालय वाले जबलपुर रेलवे स्टेशन को पिछले दो वर्षों से एयरपोर्ट की तर्ज पर विकसित किया जा रहा है, जिस पर करीब 120 करोड़ रुपए रेलवे द्वारा खर्च किए जा रहे हैं। स्टेशन री-डेवलपमेंट स्कीम के नाम पर मुख्य रेलवे स्टेशन को सुंदर और सुविधाजनक बनाने का काम लगभग पूरा हो चुका है।

रेलवे द्वारा नए एवं अभिनव विचार व परिकल्पना योजना के तहत यात्रियों को बेहतर सुविधाएँ देने का प्रयास किया जा रहा है। जिसमें यात्रियों को बेहतर भोजन के साथ उनके मनोरंजन का ख्याल रखा गया है। रेलवे आय बढ़ाने के लिए बदलते समय के साथ कदम मिलाने की कोशिश कर रहा है।
-विश्व रंजन, सीनियर डीसीएम, जबलपुर रेल मंडल

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें