• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • SIT Will Present The Challan By August 7, Gujarat Police Has Presented The Challan In The Case, 47 Accused Including Mokha Have Been Made

नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की जांच पूरी:जबलपुर SIT 7 अगस्त तक पेश कर देगी चालान, सिटी हॉस्पिटल संचालक सरबजीत सिंह मोखा सहित 47 को आरोपी बनाया

जबलपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिटी अस्पताल के डायरेक्टर सरबजीत सिंह मोखा समेत स्टाफ, जिन्हें आरोपी बनाया गया है। - Dainik Bhaskar
सिटी अस्पताल के डायरेक्टर सरबजीत सिंह मोखा समेत स्टाफ, जिन्हें आरोपी बनाया गया है।

मध्य प्रदेश में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन की जांच जबलपुर एसआईटी ने पूरी कर ली है। इस हाईप्रोफाइल मामले में सिटी अस्पताल के डायरेक्टर सहित कुल 11 आरोपी बने हैं। एसआईटी ने इस प्रकरण में लगभग 100 लोगों को गवाह बनाया है। वहीं गुजरात पुलिस द्वारा इंजेक्शन की जांच कराई गई थी। रिपोर्ट में इसमें नमक और ग्लूकोज की पुष्टि हुई थी। रिपोर्ट को यहां की एसआईटी ने चालान के साथ संलग्न किया है। एसआईटी इस हाईप्रोफाइल प्रकरण में सात अगस्त तक चालान पेश करने की तैयारी में हैं।

उधर, गुजरात पुलिस नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन मामले में चालान पेश कर चुकी है। वहां के प्रकरण में भी सरबजीत सिंह मोखा सहित कुल 47 आरोपी बनाए गए हैं। गुजरात पुलिस ने जबलपुर के सरबजीत माेखा, सिटी अस्पताल के दवा कर्मी देवेश चौरसिया, भगवती फार्मा के सपन जैन और रीवा के सुनील मिश्रा को भी आरोपी बनाया है।

जघन्य वारदात में चिन्हित हुआ है ये मामला

गुजरात पुलिस के बाद अब जबलपुर की एसआईटी भी चालान पेश करने की तैयारी में है। जबलपुर पुलिस ने इस प्रकरण को जघन्य मामले में चिन्हित कर रखा है। इस कारण चालान पेश करने से पहले जिला अभियोजन अधिकारी भी इस पर नजर डाल रहे हैं। एसआईटी प्रभारी एएसपी रोहित काशवानी सहित पूरी टीम हर बारीकियों पर नजर रखे हुए हैं। जिससे चालान में कहीं कोई त्रुटि न रह जाए।

नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाले फर्म के मालिक सहित अन्य आरोपी
नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाले फर्म के मालिक सहित अन्य आरोपी

जबलपुर एसआईटी ने 11 लोगों को बनाया है आरोपी

एसआईटी ने नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन का रैपर बनाने वाले महाराष्ट्र सीमा से सटे दक्षिणी गुजरात के वापी जिले का रहने वाले नागूजी उर्फ नागेश सहित सिटी अस्पताल के संचालक सरबजीत मोखा, उसकी पत्नी जसमीत कौर, मैनेजर सोनिया खत्री, दवाकर्मी देवेश चौरसिया, बेटा हरकण सिंह मोखा, भगवर्ती फार्मा का संचालक जबलपुर निवासी सपन जैन, उसका मित्र इंदौर में एमआर राकेश मिश्रा, फार्मा फैक्ट्री से इंजेक्शन खरीदी के सौदे में बिचौलिया रीवा निवासी सुनील मिश्रा और फार्मा कंपनी के डायरेक्टर पुनीत शाह और कौशल वोरा को आरोपी बनाया है।

सिटी अस्पताल में 171 मरीजों को लगा था 209 नकली इंजेक्शन।
सिटी अस्पताल में 171 मरीजों को लगा था 209 नकली इंजेक्शन।

ये है मामला
एक मई को गुजरात में नकली रेमडेसिविर इंजेक्शन का भंडाफोड़ हुआ था। 6 मई की देर रात गुजरात पुलिस ने जबलपुर से सपन जैन को उठाया। सपन के खुलासे पर ओमती पुलिस ने 9 मई को सिटी अस्पताल के संचालक सरबजीत मोखा व देवेश के खिलाफ एफआईआर दर्ज की। जांच आगे बढ़ी तो 9 और आरोपी बनाए गए। जांच में पता चला कि जबलपुर में कुल 500 इंजेक्शन आए थे। 465 सिटी अस्पताल में 23 व 27 अप्रैल को अम्बे ट्रांसपोर्ट के माध्यम से तो 35 इंजेक्शन सपन जैन ने रख लिए थे। सिटी अस्पताल में 171 मरीजों को कुल 209 इंजेक्शन लगाए गए थे। इसमें 9 लोगों की मौत हुई है। चार नकली इंजेक्शन साबूत जब्त हुए हैं तो 196 के लगभग टूटी शीशियां जब्त हुई हैं। भर्ती मरीजों के बयान और बिल भी एसआईटी ने चालान के साथ संलग्न किया है।

नकली रेमडेसिविर मामले में एक और आरोपी बना:जबलपुर की SIT ने रेमडेसिविर इंजेक्शन का रैपर बनाने वाले वापी के नागूजी को बनाया 11वां आरोपी, प्रोडक्शन वारंट पर आएगा जबलपुर

खबरें और भी हैं...