• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Foreign Woman From South Africa Found In Military Hostel, Sample Sent For Genome Sequencing While Quarantining

जबलपुर में ओमिक्रॉन वैरिएंट से चिंता नहीं:साउथ अफ्रीका से ट्रेनिंग के लिए आई महिला कैप्टन की RTPCR रिपोर्ट निगेटिव

जबलपुर9 महीने पहले

ओमिक्रॉन की दहशत के बीच मध्यप्रदेश समेत जबलपुर के लिए राहत की खबर है। साउथ अफ्रीका से जबलपुर आई महिला को ट्रैस कर लिया गया है। उसकी आरटीपीसीआर रिपोर्ट भी निगेटिव आई है। इससे प्रशासन ने राहत की सांस ली है। महिला का 10 दिनों तक क्वारंटीन थी। 34 वर्षीय खुमो ओरीमेट्सी लिन बोत्सवारा आर्मी में कैप्टन है। वह फॉरेन एक्सचेंज रिसर्च प्रोग्राम के तहत जबलपुर आर्मी के सीएमएम सेंटर पहुंची हैं। उन्हें सेना के हॉस्टल में क्वारंटीन किया गया है।

हेल्थ विभाग के डॉ. प्रियंक दुबे और डॉ. विभोर हजारी के मुताबिक बोत्सवाना से जबलपुर आई महिला आर्मी में कैप्टन हैं। यहां सीएमएम में नौ महीने का कोर्स करने आई हैं। उनका 10 दिन का आइसोलेशन पूरा हो चुका है। मेडिकल चेकअप में वे स्वस्थ पाई गई हैं। बोत्सवाना की आर्मी में कैप्टन इस महिला का कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल भी लिया गया था। शाम को आईसीएमआर से मिली इसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। 34 वर्षीय महिला को बोत्सवाना में वैक्सीन भी लग चुकी है।

इस कारण फैली दहशत

साउथ अफ्रीका के बोत्सवाना की रहने वाली खुमो ओरीमेट्सी लिन 18 नवंबर को दिल्ली से जबलपुर एयर इंडिया की फ्लाइट से पहुंची हैं। महिला पूरी तरह से स्वस्थ्य है और कोविड जैसे कोई लक्षण नहीं दिख रहे हैं। बोत्सवाना में वर्तमान में कोविड का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन फैला है। यह डेल्टा वैरिएंट से सात गुना तेजी से संक्रमित कर रहा है।

चिंता की बात नहीं, महिला की रिपोर्ट निगेटिव

सीएमएचओ डॉ. रत्नेश कुरारिया के मुताबिक खुमो ओरीमेट्सी लिन की आरटीपीसीआर रिपोर्ट नॉर्मल है। 28 नवंबर की देर रात महिला से संपर्क हो गया था। वह मिलिट्री हॉस्टल में रुकी हुई हैं। अभी वह क्वारंटीन हैं। एयरपोर्ट पर सभी यात्रियों की जांच के क्रम में उसकी भी जांच हुई थी। आज भी आरटीपीसीआर जांच कराई जा रही है। कोविड के लक्षण नहीं मिले हैं। एहतियातन सैंपल लेकर जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भिजवाया जा रहा है।

जबलपुर एयरपोर्ट पर 18 नवंबर को उतरी थी साउथ अफ्रीका की रहने वाली महिला।
जबलपुर एयरपोर्ट पर 18 नवंबर को उतरी थी साउथ अफ्रीका की रहने वाली महिला।

एमपी में जबलपुर से ही हुई थी कोविड और ब्लैक फंगस की एंट्री

एमपी में कोविड और ब्लैक फंगस की एंट्री जबलपुर से हुई थी। यहां 20 मार्च 2020 को सराफा व्यापारी मुकेश अग्रवाल, उनकी पत्नी, उनका एक स्टाफ प्रभुदयाल और स्विटजरलैंड से लौटा युवक उपनिषद शर्मा कोविड पॉजिटिव मिले थे। ब्लैक फंगस का पहला केस भी जबलपुर में सामने आया था।