पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Four Arrested For Trying To Kidnap A Minor In Jabalpur, Mastermind Incurred Loss Of Five Lakhs In Business

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

50 लाख फिरौती मांगने रची थी साजिश:जबलपुर में नाबालिग के अपहरण की कोशिश करने वाले चार गिरफ्तार, मास्टरमाइंड को व्यवसाय में हुआ था पांच लाख का घाटा

जबलपुर4 दिन पहले
अपहरण की कोशिश करने वालों के बारे में जानकारी देते हुए एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा।
  • संजीवनी नगर के धनवंतरी नगर निवासी गैस एजेंसी संचालक के बेटे के अपहरण मामले में चौंकाने वाला खुलासा
  • 17 फरवरी को ही घर की रेकी कर आए थे बदमाश, मोबाइल के मिस्ड काल से हो गए बेनकाब

संजीवनी नगर क्षेत्र के धनवंतरी नगर एलआईजी निवासी संदीप कुसरे के 17 वर्षीय बेटे सुजल कुसरे के अपहरण मामले में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है। अपहरण की साजिश रचने वाला मास्टरमाइंड की खुद की व्यवसायिक गैस एजेंसी है। लॉकडाउन में पांच लाख का घाटा हो गया था। इसके चलते उसे अपना घर गिरवी रखना पड़ा था। आरोपी ने अपने दोस्त और चार अन्य लोगों के साथ मिलकर किशोर के अपहरण की साजिश रची थी। वे फिरौती में किशोर के पिता से 50 लाख रुपए वसूलने वाले थे।

सुजल की मां निर्मली और उनके पिता संदीप कुसरे।
सुजल की मां निर्मली और उनके पिता संदीप कुसरे।

एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने इस सनसनीखेज मामले का खुलासा किया। बताया कि सोमावर दोपहर ढाई बजे इस अपहरण की कोशिश का प्रकरण सामने आया था। धनवंतरी नगर एलआईजी निवासी संदीप कुसरे की कांचघर में गैस एजेंसी है। दोपहर में उसका बेटा सुजल और पत्नी निर्मली कुसरे थीं। तभी एक लग्जरी वाहन से पांच लोग उसके घर पहुंचे। दरअसल संदीप अपना पुराना वाहन बेचने वाला था। सुजल ने आरोपियों को उक्त वाहन दिखाया।
बदमाशों को कुहनी से मार कर भागा
आरोपियों को वह बाहर तक छोड़ने गया। आरोपियों ने उससे वाहन का रजिस्ट्रेशन नंबर मोबाइल पर लिखने के लिए दिया। आरोपियों ने पहले उसे गाड़ी में बैठने को कहा था, लेकिन उसने मना कर दिया। वह मोबाइल पर बाहर खड़े होकर ही नंबर लिख रहा था, तभी तीनों आरोपी उसे धक्का देकर गाड़ी में बिठाने लगे।
इस पर उसने पूरी ताकत से हाथ की कुहनी से एक बदमाश को मारा और धक्का देकर घर के अंदर भागा। ऊपर खड़ी उसकी मां निर्मली कुसरे भी चिल्लाई। तभी सामने से एक होमगार्ड जवान निकला। शोर सुनकर वह भी दौड़े। वर्दी में देखकर आरोपियों को लगा कि कोई पुलिस जवान है। इसके चलते वे भाग निकले थे।

संदीप कुसरे का मकान, जहां पहुंचे थे ग्राहक बनकर अपहरण करने बदमाश।
संदीप कुसरे का मकान, जहां पहुंचे थे ग्राहक बनकर अपहरण करने बदमाश।

ऐसे हुआ खुलासा
आरोपी बिना नंबर के वाहन से पहुंचे थे। पुलिस ने इस मामले में संदीप कुसरे से बातचीत की तो पता चला कि उसने अपना वाहन तीन लाख रुपए में बेचने के लिए तीन लोगों से चर्चा की थी। तीनों लोगों में शामिल गंगा मईया राधाकृष्ण स्कूल के पास वीएफजे रांझी निवासी लक्की सिंह राजपूत के मोबाइल की काल डिटेल निकलवाई। आरोपियों में एक ने दो बजे के लगभग संदीप के माेबाइल पर फोन किया था। उसी नंबर का मिस्ड कॉल लक्की के मोबाइल में मिला। इसके बाद पुलिस ने लक्की को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो साजिश सामने आ गई।

अपहरण करने आरोपी इस वाहन से पहुंचे थे।
अपहरण करने आरोपी इस वाहन से पहुंचे थे।

ये कहानी आई सामने
लकी की स्वयं की गो गैस नाम की एजेंसी बजरंग नगर पानी की टंकी के पास है। उसके पिता इंदर सिंह राजपूत 30 वर्ष से संदीप कुसरे के यहां जॉब करते हैं। लकी व्यवसायिक गैस की आपूर्ति करता है। लॉकडाउन में घाटा होने पर कर्मियों को वेतन बांटने पांच लाख कर्ज लेने पड़ गए। कर्ज चुकाने के लिए घर गिरवी रखना पड़ा। उसे घर छुड़ाना था।
संदीप कुसरे ने उससे अपनी पुरानी स्कार्पियो गाड़ी तीन लाख रुपए में बेचने का जिक्र किया था। लकी इसे चार लाख में बेचने के लिए ग्राहक ढूंढ रहा था। दो महीने पहले वह गोविंद व आनंद दाहिया के साथ संदीप के घर वाहन देखने गया था। उसी दौरान सुजल को देखा था। इसके बाद उसके मन में अपहरण और फिरौती का विचार आया।

11वीं में पढ़ने वाला सुजल कुसरे (17) की दिलेरी बदमाशों पर पड़ी भारी।
11वीं में पढ़ने वाला सुजल कुसरे (17) की दिलेरी बदमाशों पर पड़ी भारी।

मानेगांव के क्रेशर खदान में रखते सुजल को
27 वर्षीय लकी ने अपने ही कॉलोनी निवासी दोस्त गोविंद प्रसाद कोल (27), मडई भरत कॉलोनी वीएफजे निवासी आनंद दाहिया (20) के साथ मिलकर अपहरण की साजिश रची। लकी व गोविंद ने छह महीने पहले मानेगांव बरगी में आरती चंसोरिया का क्रेशर खदान किराए पर लिया था। वहां एक कमरा भी है। क्रेशर का काम बंद है। वे सुजल का अपहरण करने के बाद इसी क्रेशर के बंद कमरे में बंधक बनाकर रखने वाले थे।
17 फरवरी को गए थे अगवा करने
तीनों 17 फरवरी को गोविंद के चचेरे भाई रिंकू किराए पर इनोवा गाड़ी लेकर अपहरण के मकसद से गए थे। सुजल ने तब भी गाड़ी दिखाई थी। उस दिन संदीप के घर कई लाेग थे। इस कारण उनकी मंशा पूरी नहीं हो पाई। इसके बाद तीनों ने अपहरण के लिए सत्यक, राहुल व शिव पटेल को भी शामिल किया। इसके बाद लकी ने अपने ऑफिस में बुलाकर अपहरण की पूरी साजिश रची। वे फिरौती में 50 लाख वसूलने वाले थे। इसमें 21-21 लाख लकी व गोविंद लेने वाले थे। जबकि अन्य चारों को दो-दो लाख रुपए मिलने थे।

आरोपियों की जब्त बाइक व स्कूटी।
आरोपियों की जब्त बाइक व स्कूटी।

इस बार भी किराए पर ली इनोवा
लकी ने एक बार फिर सोमवार को गोविंद के रिश्तेदार रिंकू की इनोवा कार किराए पर ली। एक हजार रुपए भी उसे एडवांस में दिए। लकी व गोविंद बाइक से और आनंद, राहुल, शिव व सत्यम इनोवा से धनवंतरी नगर चौक पहुंचे। वहा लकी व गोविंद ने बाइक एक दुकान पर खड़ी कर दी। आगे इनोवा से गए और उसका नंबर प्लेट निकाल दिए। वहीं से आनंद ने संदीप को फोन किया कि वह गाड़ी देखने आया है। संदीप ने बताया कि वह दुकान पर है। इसके बाद सभी उसके घर गए और सुजल के अपहरण की कोशिश की थी।
दो आरोपी फरार है
अपहरण की कोशिश सफल नहीं होने के बाद आरोपी सभी अपने घर चले गए। लकी की गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने आरोपियों की धरपकड़ शुरू की और आज सुबह तक गोविंद, आनंद व राहुल चौधरी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों की निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त इनोवा कार एमपी 20 बीए 5312, दो बाइक और चार मोबाइल व दो सिम जब्त किए हैं। मामले में सत्यम कुशवाहा और शिव पटेल की तलाश जारी है।
पकड़े नहीं जाते तो फिर करते कोशिश
एएसपी गोपाल खांडेल ने बताया कि आरोपी पकड़े नहीं जाते तो फिर कोशिश करते। लकी बीए पास है। अन्य सभी आरोपी 10वीं पास हैं। इस खुलासे में सीएसपी गोरखपुर आलोक शर्मा, टीआई भूमेश्वरी चौहान, चौकी प्रभारी सत्यनारायण कुशवाहा, सचिन वर्मा, एएसआई विनोद दुबे, आरक्षक छत्रपाल, बालमुकुंद, क्राइम ब्रांच के प्रमोद पांडे, ब्रम्हप्रकाश, राममिलन, रामगोपाल, खुमान सिंह, अजय की भूमिका रही।

आदित्य लाम्बा का अक्टूबर 2020 में अपहरण के बाद बदमाशों ने कर दी थी हत्या।
आदित्य लाम्बा का अक्टूबर 2020 में अपहरण के बाद बदमाशों ने कर दी थी हत्या।

आदित्य लांबा के घर से महज 200 मीटर दूर
संजीवनी नगर क्षेत्र के धनवंतरी नगर एलआईजी निवासी मुकेश लाम्बा के इकलौते बेटे आदित्य (13) की अक्टूबर 2020 में अपहरण हुआ था। आरोपियों ने फिरौती की रकम वसूलने के बावजूद आदित्य की हत्या कर शव को नहर में फेंक दिया था। अब एक बार फिर इसी क्षेत्र में अपहरणकर्ताओं के इस दुस्साहस से लोग सहमे हुए हैं। सुजल का घर आदित्य के घर से महज 200 मीटर की दूरी पर है।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

और पढ़ें