पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Jabalpur
  • Free In Government Hospital, Private Hospital Will Charge 250 Rupees, Dose Of Two Lakhs Is Reached, Self And Senior People Will Have To Register

आम लोगों को टीका कल से:सरकारी में मुफ्त तो निजी अस्पताल में लगेगा 250 रुपए, दो लाख का डोज पहुंचा, वरिष्ठ नागरिक और बीमार को खुद कराना होगा रजिस्ट्रेशन

जबलपुर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सोमवार से कोवीशील्ड का टीका आम लोगों को भी लगेगा। - Dainik Bhaskar
सोमवार से कोवीशील्ड का टीका आम लोगों को भी लगेगा।
  • अभी शहर में 10 केंद्रों पर लगेगी वैक्सीन, अगले सप्ताह से ग्रामीण अस्पतालों को भी जोड़ेंगे
  • कोविन-2, डीजी लॉकर, आरोग्य सेतु पर करा सकेंगे रजिस्ट्रेशन, केंद्रों पर भी होगा तत्काल रजिस्ट्रेशन

हेल्थ कर्मियों और फ्रंट लाइन वर्कर्स के बाद अब वैक्सीनेशन की बारी आम लोगों की है। शहर में कल से 10 केंद्राें पर वरिष्ठ नागरिकों और गंभीर बीमारियों से पीड़ित (45 वर्ष या इससे अधिक) लोगों को कोविशील्ड की वैक्सीन लगेगी। चार सरकारी अस्पतालों में जहां ये वैक्सीन मुफ्त में लगेगी। वहीं छह निजी अस्पतालों में वैक्सीन लगवाने के एवज में 250 रुपए देने होंगे। एक सप्ताह बाद ग्रामीण क्षेत्र के अस्पतालों में भी ये सुविधा शुरू होगी।

जिले को दो लाख डोज कोविशील्ड के मिले हैं। वैक्सीनेशन के लिए आरोग्य सेतु, डीजी लॉकर और कोविन-2 एप पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। अभी एक सप्ताह लोगों को केंद्रों पर तत्काल रजिस्ट्रेशन की सुविधा दी गई है। इसके लिए लोगों को मतदान की तरह कोई एक पहचान पत्र ले जाना होगा।

शहर के 10 केंद्रों में लगेगी वैक्सीन
जिला टीकाकरण अधिकारी डॉक्टर शत्रुघन दाहिया के मुताबिक 10 केंद्रों में विक्टोरिया, एल्गिन, मेडिकल कॉलेज और रांझी अस्पताल में लोगों को मुफ्त में टीका लगेगा। वहीं छह निजी अस्पताल जबलपुर, मेट्रो, अनंत, शैल्वी, मन्नूलाल और सिटी अस्पताल में वैक्सीन लगवाने के लिए 250 रुपए देने होंगे। 150 रुपए जहां वैक्सीन की कीमत तय की गई है। वहीं 100 रुपए अस्पताल को मिलेंगे। 250 रुपए से अधिक कोई निजी अस्पताल नहीं ले सकेगा।

वैक्सीनेशन के लिए निजी अस्पतालों को कलेक्टर से लेनी होगी अनुमति
डॉक्टर दाहिया के मुताबिक निजी अस्पतालों को कलेक्टर से वैक्सीनेशन के लिए अनुमति लेनी होगी। इसके लिए अस्पताल में वैक्सीनेशन के लिए तीन अलग से कमरे, आईसीयू की सुविधा को आवश्यक शर्तों में जोड़ा गया है। एक मेडिकल ऑफिसर के साथ दो कर्मियों की फिक्स ड्यूटी लगानी होगी। सभी को ट्रेनिंग दिया जाएगा।

निजी अस्पतालों को प्रति डोज 150 रुपए पहले सरकार के खाते में जमा करने होगे। तब उन्हें वैक्सीन की डोज मिलेगी। सोमवार को सरकारी अस्पतालों में जहां 500-500 वहीं निजी अस्पतालों में 150-150 लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य दिया गया है। इसके अलावा हेल्थ कर्मियों को लग रहा दूसरा डोज भी सोमवार को लगेगा।

टीका लगवाने के लिए इस तरह की प्रक्रिया से गुजरना होगा

  • आरोग्य सेतु एप, डीजी लॉकर, कोविन-2 एप पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। टीकाकरण केंद्र पर भी पंजीयन करा सकेंगे।
  • पंजीयन के समय मतदाता परिचय पत्र, आधार कार्ड, पासपोर्ट, पेन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस सहित 12 तरह पहचान पत्र दिखाने होंगे।
  • ऑनलाइन पंजीयन के दौरान पोर्टल और एप में सरकारी व निजी और मुफ्त और सशुल्क का विकल्प चुनना होगा। इसके अलावा सेंटर का भी विकल्प चुनना होगा।
  • 45 वर्ष से ज्यादा के उम्र के को-मॉर्बिडिटीज वालों को टीकाकरण केंद्र में किसी पंजीकृत मेडिकल प्रेक्टिशनर से बीमारी का प्रमाण पत्र लेना हाेगा।
  • डायबिटीज, हायपर टेंशन, दिल, किडनी, कैंसर, एचआईवी, थैलेसीमिया सहित 20 के लगभग गंभीर बीमारियों को शामिल किया गया है।
  • टीकारकण केंद्र में सुबह नौ से शाम पांच बजे तक टीके लगाए जाएंगे। पंजीयन के समय अपनी सुविधा के अनुसार दिन चुनने का भी विकल्प होगा।
खबरें और भी हैं...